कहीं आप अपने पास स्मार्टफोन रख कर तो नहीं सोते

By Tejnews.com 2016-11-23 हेल्थ     

आज के दौर में स्मार्टफोन के बिना कोई लाइफ ही नहीं रह गई हो जैसे। उसके बिना तो ऐसे लगता हैं जैसे कि बॉडी का कोई एक पार्ट निकल गया है। जिसके बिना आप एक कदम भी नहीं चल सकते हैं।
स्मार्टफोन और टैबलेट्स जैसे उपकरणों में आग लगने व विस्फोट होने की घटनाएं होती रहती हैं। लेकिन आप बेफिक्र होकर इसको साथ लेकर सो भी रहे हैं। सावधान! इनसे दर्जनों खतरनाक गैसें निकल रही हैं। इसे लेकर वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है।
वैज्ञानिकों की एक टीम ने लिथियम-आयन बैटरियों से निकलने वाली 100 से ज्यादा जहरीली गैसों की पहचान की है। इसमें कार्बन मोनोऑक्साइड भी शामिल है। इस वजह से आंखों, त्वचा और नसिका में जलन की समस्या पैदा हो जाती है। यह पर्यावरण को भी बड़े पैमान पर नुकसान पहुंचाती है।
चीन के इंस्टीट्यूट ऑफ एनबीसी डिफेंस एंड सिन्गुहा विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं के अनुसार, अभी भी बहुत सारे लोग स्मार्टफोन के जरूरत से ज्यादा गर्म होने या खराब चार्जर से चार्ज करने के खतरों को लेकर अनजान हैं।
इंस्टीट्यूट ऑफ एनबीसी डिफेंस के प्रोफेसर और प्रमुख लेखक जी सन ने कहा, "आजकल दुनिया भर की बहुत सी सरकारें लिथियम-आयन की बैटरियों को ज्यादा सक्रियता से बढ़ावा दे रहे हैं। लिथियम ऑयन बैटरी का इस्तेमाल लाखों परिवार कर रहे हैं, इसलिए जरूरी है कि आम लोग इस ऊर्जा स्रोत के पीछे छिपे खतरे को समझें।"
बैटरियों में विस्फोट के खतरे ने निर्माताओं को लाखों उपकरण वापस लेने को मजबूर किया।
डेल कंपनी ने साल 2006 में लाखों लैपटॉप और बैटरी में आग लगने की घटनाओं के बाद साल 2016 में सैमसंग गैलेक्सी नोट 7 को अपने उपकरणों को वापस लेना पड़ा।
लेकिन जहरीली गैसों के उत्सर्जन और इसके उत्सर्जन के स्रोतों को अभी अच्छी तरह से समझा नहीं जा सका है। प्रोफेसर सन और उनके सहयोगियों ने कई कारकों की पहचान की है जो विषाक्त गैसों के उत्सर्जन की मात्रा को बढ़ा सकते हैं।
उदाहरण के तौर पर एक पूरी तरह से चार्ज बैटरी करीब 50 प्रतिशत चार्ज बैटरी के मुकाबले ज्यादा विषैली गैसें उत्सर्जित करती हैं। बैटरी में शामिल रसायन और उनकी चार्ज रिलीज करने की क्षमता भी जहरीली गैसें छोड़ने की मात्रा पर असर डालता है।

Similar Post You May Like

  • बढ़ती उम्र में पाना चाहते है ग्लोइंग स्किन, तो कराएं PRP थेरेपी, जानिए क्या है ये

    बढ़ती उम्र में पाना चाहते है ग्लोइंग स्किन, तो कराएं PRP थेरेपी, जानिए क्या है ये

    उम्र बढ़ने के साथ त्वचा के नीचे स्थित ऊतकों से वसा की मात्रा कम होने लगती है। इसके साथ ही सूर्य की रोशनी और प्रदूषण की वजह से होने वाले नुकसान के कारण रेखाओं और झुर्रियों के साथ त्वचा की चमक खो जाती है जिसके कारण वृद्ध और थके हुए नजर आते हैं। पीआरपी थेरेपी के जरिये त्वचा की खोई हुई टेक्सचर, टोन और प्राकृतिक चमक वापस पाने में मदद मिलती है। अपोलो अस्पताल के कॉस्मेटिक प्लास्टिक सर्जन एव

  • उपवास के लिए ऐसे बनाएं टेस्टी साबूदाना की खिचड़ी

    उपवास के लिए ऐसे बनाएं टेस्टी साबूदाना की खिचड़ी

    नवरात्र के दिनों में अधितकर लोग उपवास रखते है। इसके साथ ही कामकाज में हमारे पास इतना समय नहीं होता है कि खुद के लिए थोड़ा सा भी समय निकाल पाएं। इसलिए आप उपवास में साबुदाना की खचड़ी बना सकते है। इस खिचड़ी में आप नमक की जगह सेंधा नमक का यूज कर सकते है। जानिए इस रेसिपी को बनाने की विधि के बारें में। सामग्री 1. साबुदाना 2. आधा चम्म्च जीरा 3. एक छोटे आकार का आलू (चुकड़े कए हुए) 4. थोड़े मूंगफली

  • कहीं आप ज्यादा शुगर का तो सेवन नहीं करते, पुरुषों के लिए हो सकता है जानलेवा

    कहीं आप ज्यादा शुगर का तो सेवन नहीं करते, पुरुषों के लिए हो सकता है जानलेवा

    भागदौड़ भरी लाइफ में हम अपनी जरा सा भी ख़याल नहीं रख सकते हैं। जिसके कारण जो हमें मिल गया अपनी भूख को मिटाने के लिए वह खाना खाती है। जिसके कारण हमें बाद में कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसी तरह अधिक मात्रा में शुगर का सेवन करना आप के लिए भारी पड़ सकता है। हाल ही में एक शोध हुआ जिसमें ऐसे निष्कर्ष निकल गए थे कि सुन आप ह्रान रह जाएंगे। हाल में हुए इस शोध के अनुसार अत्यधिक मीठा खा

  • रिसर्च में हुआ खुलासा, इसलिए रात में होती है शराब पीने की तीव्र इच्छा

    रिसर्च में हुआ खुलासा, इसलिए रात में होती है शराब पीने की तीव्र इच्छा

    हर शाम क्या आपके अंदर एक ग्लास व्हिस्की पीने की तीव्र इच्छा उठती है, अगर ऐसा है तो यह मस्तिष्क की प्रतिरक्षा प्रणाली या इम्यून सिस्टम की उत्तेजना के कारण हो सकता है। एक नए रिसर्च के निष्कर्षो में मस्तिष्क की प्रतिरक्षा प्रणाली और रात में शराब पीने की प्रेरणा के बीच के संबंध पता चला है। शोधार्थियों ने बताया कि इसका कारण यह है कि शरीर की जैविक प्रक्रिया मादक पदार्थो से संबंधित व्यवह

  • रोजाना सुबह पुरुष खाएं भीगा हुआ चना, तो मिलेंगे ये बेहतरीन फायदे

    रोजाना सुबह पुरुष खाएं भीगा हुआ चना, तो मिलेंगे ये बेहतरीन फायदे

    रोज थोड़ा चने खाने से बच्चे और बड़े सभी का स्वास्थ्य बेहतर होता है। इसमें मौजूद तत्व में कई समस्याओं से बचाता है। अगर आम रोज 50 ग्राम चना खाते है तो आपका शरीर कई बीमारियों से बच जाएगा। वह चना किसी भी तरह हो यानी की चाहे अंकुरित हो या फिर भूना हुआ। सभी को खाने से अधिक फायदे है। भीगे चने में अधिक मात्रा में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, नमी, चिकनाई, रेशे, कैल्शियम, आयरन और विटामिन्स पाए जाते ह

  • जिंदगीभर रहना है स्वास्थ्य, तो बचपन से डालें ये आदते

    जिंदगीभर रहना है स्वास्थ्य, तो बचपन से डालें ये आदते

    स्कूलों में स्वास्थ्य का बहुत महत्व है, क्योंकि स्कूल केवल औपचारिक शिक्षा प्रदान करने वाले केंद्र ही नहीं हैं, बल्कि एक बच्चे के समग्र विकास को भी प्रभावित करते हैं। बड़े होने के दौरान अच्छे स्वास्थ्य का आनंद लेने के लिए स्वस्थ जीवनशैली की आदत बच्चों को बचपन में ही डाल देनी चाहिए। यह परामर्श पद्मश्री डॉ. के.के. अग्रवाल का है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के अध्यक्ष डॉ. अग्रवाल ने

  • मस्सों से केला सिर्फ एक दिन में दिलाएंगा निजात!

    मस्सों से केला सिर्फ एक दिन में दिलाएंगा निजात!

    हमारे चेहरे में मस्सा होना एक आम बात है। यह कोई बीमारी नही होती है, लेकिन कभी-कभी यह हमारे चेहरे में होने के कारण हम असहज महसूस करते है। हर कोई त्वचा संबंधी किसी न किसी समस्या से घिरा होता है। लेकिन इनमे से कुछ गंभीर होती है और कुछ नार्मल होती है। मस्से शरीर के किसी भी अंग में हो सकते है। मुख्यत: ये हाथ, पैर, चेहरे, कलाई, घुटनों में हो सकते है। इसका मुख्य कारण ह्युमन पैपिल्लोमा वाइरस की व

  • अगर रहना है फिट, तो नियमित मात्रा में लें प्रोटीन

    अगर रहना है फिट, तो नियमित मात्रा में लें प्रोटीन

    आज क समय में हर कोई फिट रहने की कोशिश करता है, लेकिन गलत खानपान के कारण रह नहीं पाता है। जिसके कारण शरीर में प्रोटीन, विटामिन्स, मिनरल्स की कमी हो जाती है। माना जाता है कि शरीर के लिए सबसे ज्यादा जरुरी प्रोटीन है। शाकाहारी लोगों के आहार में प्रोटीन की मात्रा कम होती है, जबकि मांसाहारियों के आहार में प्रोटीन की अच्छी-खासी मात्रा होती है। विशेषज्ञों का मानना है कि शरीर के अच्छे विकास क

  • डिप्रेशन के कारण नहीं आती है नींद, तो करें इस चीज का सेवन

    डिप्रेशन के कारण नहीं आती है नींद, तो करें इस चीज का सेवन

    भागदौड़ भरी लाइफ में हमारे पास इतना समय नहीं होता है कि खुद का ठीक ढंग से ध्यान रख पाएं। जॉब, घर सभी चीज का प्रेशर हमारे डिप्रेशन का कारण बनती है। जिसके कारण कई लोग तो इससे बाहर ही नहीं निकल पाते है। हमारे बीच कई लोग ऐसे होते है जो कि डिप्रेशन के कारण ठीक से नींद नहीं ले पाते है। जिसका सीधा असर उनकी हेल्थ पर पड़ता है। अगर आप भी उनमे से है, जिनको तनाव के कारण नींद पूरी नहीं हो पाती। भारती

  • बिना दवा खाए सिर्फ 1 मिनट में ऐेसे पाएं सिरदर्द से निजात!

    बिना दवा खाए सिर्फ 1 मिनट में ऐेसे पाएं सिरदर्द से निजात!

    सिरदर्द एक आम परेशानी हैं। शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा जिसने सिरदर्द कभी न हुआ हो। आज की भागदौड़ भरी जीवनशैली, तनाव के कारण सिरदर्द होना आम बात हो गयी हैं। इसका ठीक ढंग से इलाज न करने से स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याएं हो सकती है। ज्यादातर मौके पर सिरदर्द यह एक आम लक्षण होता हैं और सामान्य दर्दनाशक दवा लेने पर तुरंत आराम मिल जाता हैं। कभी अम्लपित्त की वजह से, अधूरी नींद के कारण, तनाव, द

ताज़ा खबर

Popular Lnks