ऐसे 12 देश जहां घर बनाने के लिए बिल्कुल फ्री में मिलती हैं जमीन और रुपये

By Tejnews.com Mon, Nov 21st 2016 अजबगजब     

आज इस महंगाई के दौर में इस दुनिया में हर एक इंसान का एक सपना होता है कि उसका अपना घर हो, जिसमें अपने परिवार के साथ देखे गये हसीं सपनों को वो पूरा होता हुआ देखे। आसमान छूती ज़मीन की कीमतों और बिल्डर्स की मनमानी के बीच आजकल तो अपने घर का सपना सिर्फ़ सपना ही हो कर रह गया।

आजकल भारत के दिल्ली, मुंबई जैसे बड़े शहरों में जहां एक तरफ भीड़ बढ़ती ही जा रही है, वहीं कुछ देश ऐसे भी है, जो अपने नागरिकों के इस सपने को पूरा करने के लिए खुद आगे आते हैं, जिससे कि उनके यहां रहने वाले हर नागरिक को खुद का घर मिले। आज हम आपको कुछ ऐसे ही 12 देशों के बारे बता रहे हैं, जो अपने नागरिकों को घर बनाने के लिए फ्री ज़मीन उप्लब्ध कराते हैं। बल्कि आपको पैसोंं के साथ घर बनाने के लिए मुफ्त जमीन भी देते हैं।
1. मर्ने, आयोवा- (Marne, Iowa)
बहुत ही कम 149 घर वाले इस देश में लोगों को बसाने के लिए यहां की सरकार कई प्रयास कर रही है। जिसमें से एक है, यहां लोगों को फ्री ज़मीन देकर जनसंख्या को बढ़ाना। To Deal The Seal के तहत Marne Housing & Development Corporation यहां लोगों को 1200 स्कॉवर फीट ज़मीन बिल्कुल फ्री में देती है, बर्शते आपको उस पर 2 साल के अंदर घर ज़रूर बनाना होगा।
2.) डेट्रॉइट, मिशिगन- (Detroit, Michigan)



लेबर फोर्स की कमी से जूझ रहीं डेट्राइट की कुछ बड़ी कंपनियां युवाओं को न सिर्फ नौकरी दे रही हैं, बल्कि वह उन्‍हें यहां रहने पर इंसेंटिव भी मुहैया करा रही हैं।
यंहा मिलेंगे डेढ़ लाख रुपए:-
डेट्राइट में मूव होने के बाद जब आप कोई घर किराए पर लेंगे, तो आपको पहले साल करीब 1 लाख, 60 हजार रुपए का रेंटिंग अलाउंस मिलेगा। इसके बाद सालाना आपको करीब 60 हजार रुपए मिलते रहेंगे। अगर आप यंहा यहां घर खरीदना चाहते हैं, तो 10 लाख रुपए का फोरगिवेबल लोन (कुछ शर्तों के साथ माफ किया जा सकने वाला लोन) मिलेगा। अगर पहले से ही आपका यहां घर है, तो इसके रेनेवेशन के लिए तीन लाख रुपए तक प्राप्त होते हैं।
जानिए क्या है शर्त:-
डेट्राइट में इन सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए जरूरी है कि आप ब्लू क्रॉस ब्लू शिल्ड ऑफ मिशिगन, कंप्यूवेयर, डीटीई एनर्जी समेत कुछ चुनिंदा कंपनियों में काम करते हों। ये सुविधाएं इन्हीं कंपनियों की तरफ से ही मिलती हैं। इस प्रोग्राम में एप्लाई करने के लिए डाउनटाउन डेट्राइट पार्टनरशिप पर किया जा सकता है।
3. मार्क्‍वेट, कैंजस- (Marquette, Kansas)
अपने सपने के साथ रहने वालों के लिए Marquette किसी जन्नत से कम नहीं। यहां के लोग खुद ऐसे लोगों को निमंत्रण भेजते हैं, जो यहां रहने के इच्छुक होते हैं। फ्री ज़मीन के लालच में कई लोग यहां का रूख करते हैं, जिसकी वजह से ज़मीन लेने के तुरंत बाद ही घर बनाना फायदे का सौदा होता है।
जानिए क्या है शर्त:-
जमीन मिलने के एक साल के अंदर उस पर आवास निर्माण करना होगा। निर्माण पूरा होने के बाद कम से कम एक साल तक उस घर में रहना होगा।
4.) न्यू हेवेन, कनेक्टिकट (New Haven Connecticut)
कनेक्टिकट के न्यू हेवेन शहर में परिवार के साथ रहने वाले लोगों के लिए यहां की सरकार ने फायदेमंद स्कीम्स शुरू की हैं।
यंहा मिलेंगे 27 लाख रुपए:-
न्यू हेवेन में अगर परिवार के साथ रहते हैं, तो यहां करीब 6 लाख रुपए एसिस्टेंटशिप के तौर पर मिलते हैं। इसका इस्तेमाल होम लोन की डाउन पेमेंट भरने और अन्य खर्चे उठाने के लिए किया जा सकता है। अपने घर में एनर्जी सेविंग्स अपग्रेड करवाएंगे, तो इसके लिए 20 लाख रुपए तक की मदद प्राप्त होगी। यही नहीं, छात्रों को फ्री ट्यूशन दिया जाता है। सालाना एक लाख रुपए के इंसेंटिव भी छात्रों को मिलते हैं।
जानिए क्या है शर्त:-
6 लाख रुपए एसिस्टेंटशिप हासिल करने के लिए यहां की सरकार को घर बनाने का प्लान बताना होगा। उसके आधार पर ही निर्णय लिया जाएगा कि यह मदद आपको मिलेगी या नहीं। फ्री ट्यूशन फी प्राप्त करने के लिए जरूरी है कि न्यू हेवेन पब्लिक स्कूल से ग्रैजुएशन किया हो। सालाना एक लाख रुपए इंसेंटिव पाने के लिए नॉन-प्रॉफिट स्कूलों से ही पढ़ाई करना जरूरी है।
5. लिंकन, कैंजस- (Lincoln, Kansas)
यंहा मिलेगी मुफ्त जमीन:-
3,241 आबादी वाला ये शहर अपने यहां आने वाले लोगों का दोनों बांहे फैला कर स्वागत करता है। अपने कल्चर को लेकर यहां के लोग काफी सजग हैं और उसके भविष्य को सुनिशचित करने के लिए यहां की सरकार लोगों को फ्री ज़मीन जैसी बुनियादी सुविधाएं देती है।
जानिए क्या है शर्त:-
जमीन मिलने के एक साल के अंदर उस पर आवास निर्माण करना होगा। निर्माण पूरा होने के बाद कम से कम एक साल तक उस घर में रहना होगा।
6. हार्मनी, मिनिसोटा (Harmony, Minnesota)
न कोई नागरिकता का बंधन और न ही उम्र और इनकम की कोई तय सीमा। मिनिसोटा के हार्मनी शहर में रहना सबसे ज्यादा फायदेमंद है।
यहां मिलेगी छह लाख रुपए की छूट:-
आधुनिक सुविधाओं से लैस साउदर्न मिनिसोटा में अगर आप रहना पसंद करते हैं, तो सबसे पहले अपना घर यहां बनवाइए। घर बनाने में लगने वाले खर्च में यहां की सरकार की तरफ से करीब 6 लाख रुपए की छूट दी जाती है।
जानिए क्या है शर्त:-
6 लाख रुपए तब ही मिलेंगे,जब घर बनकर तैयार हो जाएगा। छूट हासिल करने के लिए घर बनवाने का काम शुरू करने से पहले ही अप्लाई करना होगा।
7. मुस्केगों, मिशिगन- (Muskegon, Michigan)
एक तरफ दुनिया के कई देश बढ़ती जनसंख्या को लेकर परेशान हैं, पर यहां कहानी कुछ उल्टी ही है। यहां के लोग अपनी जनसंख्या को बढ़ाने के लिए लोगों को दावत देते हैं कि वो यहां आये और अपना घर बनाये। इसके साथ ही उद्योग को बढ़ावा देने के लिए सरकार ज़मीन मुहैया कराती है।
8. न्यू रिचलैंड, मिनिसोटा- (New Richland, Minnesota)
चर्च की घंटी के साथ एक कप कॉफी लेकर उगते हुए सुरज को अपनी छत से देखना वाकई एक सुखद अनुभव है। आजकल की भाग-दौड़ भरी दुनिया में ये अनुभव किसी सपने से कम नहीं लगता! अगर आप इस सपने को सच करना चाहते हैं, तो New Richland आपके लिए किसी जन्नत से कम नहीं।
न्यू रिचलैंड में भी मुफ्त जमीन मिलेगी। इस पर आप अपना घर बनाएं और सरकारी स्कीम्स का लाभ उठाएं।
यंहा मिलेगी चार लाख की मदद:-
न्यू रिचलैंड में घर बनाने में तकरीबन 13 लाख रुपए का खर्च आता है, लेकिन सरकार की तरफ से चार लाख रुपए की मदद मिलने के बाद 9 लाख रुपए में ही तैयार हो जाएगा। घर तैयार होने के बाद अगले 15 साल तक चार लाख रुपए की यह रकम एनुअल टैक्स के तौर पर वसूली जाएगी।
9. बीट्राइस , नेब्रास्का- (Beatrice, Nebraska)
न रहने की टेंशन, न काम का झंझट, कसम से ऐसा तो बस सपने में ही हो सकता है। पर इस सपने को हक़ीकत में बदलता है Beatrice. जहां आपको ज़मीन एक शर्त पर मिलती है कि 5 सालों तक आपको ज़मीन का रख-रखाव करना होगा। इसके साथ ही आपको इस ज़मीन से रेवेन्यू पैदा करना होगा, जिससे की सरकार शहर का खर्च चला सके।
10. कैम्डेन, मैंने- (Camden, Maine)
जहां तक आपकी नज़र जाएगी वहां तक सिर्फ ज़मीन ही ज़मीन होगी, आप जितनी चाहे ज़मीन लेकर उस पर इंडस्ट्री खड़ी कर सकते हैं। बस आपको यहां के 25 स्थानीयों को रोजगार देना होगा।
11. अलास्का- (Alaska, USA)



United State USA में फ्री ज़मीन सोचना भी नामुमकिन सा लगता है। पर ऐसा संभव है दोस्त, अलास्का का Department of Natural Resources यहां आबादी बसाने के लिए इस तरह के ऑफर दे रहा है और लगातार प्रयास कर रहा है। अलास्का राज्य की सरकार 1976 से यहां रहने वालों को परमानेंट फंड रिजर्व स्कीम के तहत इंसेंटिव देती आ रही है। ये अलास्का की तेल बिक्री से मिलने वाली रॉयल्टी होती है, जो सभी नागरिकों के बीच बांट दी जाती है।
यंहा मिलेगा एक लाख रुपए सालाना:-
यहां रहने के लिए आपको सालाना एक लाख रुपए तक मिल सकते हैं। सामान्य दिनों में ये रकम औसतन 80 हजार रहती है, लेकिन अच्छी रॉयल्टी मिलने पर यह रकम एक लाख रुपए सालाना तक पहुंच जाती है।
जानिए क्या है शर्त:-
लेकिन इस सालाना इंसेंटिव को हासिल करने की सबसे पहली शर्त है कि आप यहां के नागरिक बनें। दूसरी ये कि यहां का नागरिक बनने के बाद किसी और शहर या देश में आपकी नागरिकता नहीं होनी चाहिए।
12. सस्काचेवान, कनाडा- (Saskatchewan, Canada)
विदेशों में पढ़ना चाहते हैं, तो अमेरिका से सटे कनाडा का सस्काचेवान शहर आपके लिए बेहतर ऑप्शन हो सकता है।
यंहा मिलेगा 10 लाख रुपए का रिइंबर्समेंट:-
ज्यादा से ज्यादा कॉलेज स्टूडंट्स को अट्रैक्ट करने के लिए यहां की सरकार ने 2010 से एक स्कीम चलाई है। यहां की यूनिवर्सिटीज में पढ़ने वालों को उनकी ट्यूशन फीस रिइंबर्श की जाती है, जो करीब 10 लाख, 25 हजार रुपए तक वापस मिलती है।
जानिए क्या है शर्त:-

रिइंबर्समेंट पाने के लिए जरूरी है कि शहर की तरफ से प्री-अप्रूव्ड इंस्टीट्यूट्स से ही आपने ग्रैजुएशन किया हो। इसके साथ ही कम से कम छह महीने तक आप इस शहर में रह रहे हों।

Similar Post You May Like

  • भारत में है एक कंपनी, जहां चपरासी से लेकर अधिकारी हैं करोड़पति!

    भारत में है एक कंपनी, जहां चपरासी से लेकर अधिकारी हैं करोड़पति!

    नई दिल्ली: गुड्ज एंड सर्विसेज टैक्स (GST) की खबरों से अगर आप ऊब गए हैं तो ये खबर आपको थोड़ा सूकुन दे सकती है. भारत में एक ऐसी कंपनी है जहां कर्मचारियों की सैलरी 10 से 20 हजार रुपए के बीच है, लेकिन सभी करोड़पति हैं. यह बात आपको थोड़ी अटपटी लग सकती है लेकिन यह सौ फीसदी सच है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह अनोखी कंपनी रविराज फोइल्स लिमिटेड गुजरात स्थित अहमदाबाद के साणंद में है. दिलचस्प बात यह है

  • मुकेश अंबानी के ड्राइवर की सैलरी सुन आप के भी उड़ जाएंगे होश, सोशल मीडिया पर वायरल

    मुकेश अंबानी के ड्राइवर की सैलरी सुन आप के भी उड़ जाएंगे होश, सोशल मीडिया पर वायरल

    मुकेश अंबानी एक ऐसा नाम है जिन्होंने लगातर मेहनत अपने नाम का लोहा मनवाया है मुकेश अंबानी की गिनती देश ही नहीं बल्कि पूरी विश्व के सबसे अमीर व्यक्तियों में की जाती है. इनका घर भी दुनिया के सबसे आलीशान और महंगे घरों की लिस्ट में शुमार है. मुकेश अंबानी के पास हेलीकॉप्टर होने के साथ ही 500 से भी अधिक गाड़ियां है. हम इनके घर को स्वर्ग कह सकते है क्यों की इनका घर सभी सुख सुविधाओं से भरपूर है. अ

  • एक दिन में लाखों रुपये कमा लेता है ये 6 साल का बच्चा, जानिए कैसे

    एक दिन में लाखों रुपये कमा लेता है ये 6 साल का बच्चा, जानिए कैसे

    कहते हैं “पूत के पांव पालने में ही दिख जाते हैं” और इस कहावत को सच कर दिखाया है एक 6 साल के बच्चें ने.. जी हां, जिस उम्र में बच्चे खेलना-कूदना सीखते है उस उम्र में इस छोटे से बच्चे ने बड़ा कारनामा कर दिखाया. यह बच्चा नन्ही उम्र में लाखों रुपए कमा रहा है. शायद आपको हमारी बातों पर विश्वास नही हो रहा है, तो आइए आप स्वय ही जान लिजिए इस छोटे से बच्चे के बड़े कारनामे को. केरल के कोच्चि का रहने वाले न

  • पूरी जिंदगी एक ही पार्टनर के साथ रहते हैं ये जानवर, कभी नहीं देते धोखा

    पूरी जिंदगी एक ही पार्टनर के साथ रहते हैं ये जानवर, कभी नहीं देते धोखा

    आज कल कई ऐसी खबरें आती हैं जिसमें इंसान अपने पार्टनर को धोखा देता है. देखा जाए तो ये एक आम बात हो गई है. ऐसे में अगर हम आपसे कहें कि दुनिया में कुछ ऐसे पक्षी और जानवर भी मौजूद हैं, जो जिंदगी भर एक ही पार्टनर के साथ रहते हैं तो? पार्टनर की मौत के बाद भी नहीं ढूंढते दूसरा पार्टनर. आज वर्ल्ड एनिमल डे है. इस मौके पर हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसे जानवरों के बारे में जो हमेशा अपने पार्टनर के लिए वफाद

  • इस स्वघोषित देश में रहते हैं महज 33 लोग

    इस स्वघोषित देश में रहते हैं महज 33 लोग

    किसी भी देश में कोई नेता या जनप्रतिनिधी कहीं दौरे पर जाता है तो उसके साथ पूरा लंबा-चौड़ा काफिला चलता है. इसमें सुरक्षा वाले और उनके अन्य लोग शामिल रहते हैं. वहीं इस दुनिया में एक देश ऐसा भी है जहां के राष्ट्रपति सड़कों पर बिना किसी सुरक्षा तामझाम के घूमते हैं. इससे भी आश्चर्यजनक जो जानकारी है वो है उस देश की जनसंख्या. जी हां, उस देश की आबादी महज कुल 33 लोगों की है. इनमें वो 4 कुत्ते भी शामि

  • इस आइलैंड पर नहीं है मरने की इजाजत

    इस आइलैंड पर नहीं है मरने की इजाजत

    पाबंदी एक शब्द है, जिसको सुनते ही इंसान ये सोचने लगता है किस पर, कब और कहां. जी हां, कई देशों में कई तरह की पाबंदियों के बारे में हम सब ने सुना है, मगर क्या आप जानते हैं इस दुनिया में एक ऐसा आइलैंड हैं, जहां इंसानों के मरने पर भी पाबंदी लगी हुई है. जबकि वो इंसान कोई बाहरी नहीं बल्कि उसी आइलैंड के निवासी होते हैं. मतलब यह कि इस आइलैंड पर कोई अपनी आखिरी सांस नहीं ले सकता है. नॉर्वे के छोटे से शह

  • ये जनाब 14 साल की उम्र में पढ़ाते हैं गणित

    ये जनाब 14 साल की उम्र में पढ़ाते हैं गणित

    कुछ बच्चे अपनी प्रतिभा के बल पर अपनी पहचान गढ़ते हैं. ऐसे ही हैं याशा एस्ले. 14 साल की उम्र में वो इंग्लैंड की लीसेस्टर यूनिवर्सिटी में गणित काे प्रोफेसर बने हैं. खबरों के मुताबिक याशा को यूनिवर्सिटी में गणित पढ़ने और पढ़ाने वाले सबसे कम उम्र के प्रोफेसर बने हैं. गणित में अविश्वसनीय ज्ञान देख उसके परिजन उसे मानव कैल्कुलेटर कहते हैं. याशा के पिता मूसा एस्ले रोजाना उसे कार से यूनिवर्स

  • यहां लगती है दूल्हों की बोली

    यहां लगती है दूल्हों की बोली

    साल 1982 में फिल्म निर्माता ताहिक हुसैन ने एक फिल्म बनाई, जिसका नाम था “दूल्हा बिकता है”. ये फिल्म जब सिनेमाघर में पहुंची तो लोगों को विश्वास ही नहीं हुआ कि भारत में ऐसा भी होता है. इसी तरह कालांतर में दूल्हों के बिकने पर कई फिल्में बनीं, लेकिन क्या आपको पता है कि भारत में दूल्हे बिकते हैं. जी हां, ये बात सौ फीसदी सही है. दूल्हों की सौदेबाजी होती है बिहार के मिथिलांचल यानी मधुबनी जिले मे

  • 90 साल में बनकर तैयार हुई थी दुनिया की सबसे बड़ी गौतम बुद्ध की मूर्ति

    90 साल में बनकर तैयार हुई थी दुनिया की सबसे बड़ी गौतम बुद्ध की मूर्ति

    दुनिया में कई तरह की धारणा सदियों से चलती आ रही है. जिनके पीछे कोई वैज्ञानिक तर्क न होने पर भी लोग पीढ़ियों तक इसे मानते आ रहे हैं. जैसे हमारे यहां कहा जाता है कि सुबह-सुबह अपने किसी प्रियजन का चेहरा देखना चाहिए, जिससे कि हमारा पूरा दिन अच्छा गुजर सके. इसी तरह चीन के लेशान में स्थित महात्मा बुद्ध की विशाल प्रतिमा को देखकर, लोग अपने नए साल की शुरूआत करते हैं. इनकी मान्यता है कि नए साल की शु

  • शंगचुल महादेव मंदिर – घर से भागे प्रेमियों को मिलता है यहां आश्रय

    शंगचुल महादेव मंदिर – घर से भागे प्रेमियों को मिलता है यहां आश्रय

    हिमाचल प्रदेश जितना अपनी प्राकृतिक सुंदरता के कारण जाना जाता है उतना ही यहां की परंपराओं के कारण भी। आज हम आपको बता रहा है कुल्लू के शांघड़ गांव के देवता शंगचूल महादेव के बारे में जो घर से भागे प्रेमी जोड़ों को शरण देते हैं। पांडव कालीन शांघड़ गांव में कई ऐतिहासिक धरोहरें हैं। इन्ही में से एक हैं यहां का शंगचुल महादेव मंदिर। शंगचूल महादेव की सीमा में किसी भी जाति के प्रेमी युगल अगर

ताज़ा खबर

Popular Lnks