उत्तराखंड में कुदरत ने ढाया कहर, केदारनाथ धाम मे भारी तबाही

By Tejnews.com 2014-01-15     

उत्तराखंड में कुदरत ने गजब का कहर ढाया है मूसलाधार बारिश और फ्लैश फ्लड ने केदारनाथ धाम में भारी तबाही मचाई है केदारनाथ मंदिर को छोड़कर आसपास का इलाका बुरी तरह तबाह हो चुका है। केदारनाथ से नीचे रामबाड़ा बाजार और गौरीकुंड में भी भारी तबाही हुई है। यहां पहाड़ से भारी वेग के साथ बहता हुआ बारिश का पानी अपने साथ टूटी चट्टानों के टुकड़े और गाद लेकर केदारनाथ मंदिर परिसर में घुस गया था और उसने अपनी राह में आने वाली सभी चीजों को तहस-नहस कर दिया। आसपास का पूरा इलाका बहुत बड़े मलबे के ढेर में तब्दील हो चुका है। बड़े.बड़े पत्थरों से घिरा केदारनाथ मंदिर का शिखर और उस पर लगा कलश ही नजर आ रहा है। बाकी का पूरा मंदिर मलबे में समा चुका है। मंदिर की सीढ़ियां, ऊंची दीवारें कुछ नहीं दिख रहा। नजदीक में बनी हुई सारी इमारतें जमींदोज हो चुकी हैं। तबाही का अंदाजा केदारनाथ की पुरानी तस्वीरों को देखकर लगाया जा सकता है। तबाही से पहले कितना विशाल था केदारनाथ मंदिर। चारों तरफ बने मकान, लोगों के ठहरने के लिए बने गेस्टहाउस और होटल। कहते हैं चार धाम यात्रा के दिनों में एक वक्त में इस इलाके में कई हजार लोग मौजूद रहते हैं। तबाही की ये तस्वीर अंदाजा लगाने के लिए काफी है कि मलबे की चपेट में आने के बाद उनका क्या हुआ होगा।
चश्मदीदों के मुताबिक मंदिर के एक तरफ ग्लेशियर का हिस्सा टूटकर आया और दूसरी तरफ पानी का सैलाब। बड़ी.बड़ी चट्टानें इमारतों को रौंदती हुई बिखरती चली गईं। आप देख सकते हैं कि मंदिर के सामने भी कितनी बड़ी चट्टान गिरी हुई नजर आ रही है। मंदिर के भीतर लाशें पड़ी हुई हैं, मंदिर के आसपास के इलाके में रविवार सुबह से ही घनघोर बारिश हो रही थी। लेकिन करीब 24 घंटे बाद यानि सोमवार सुबह अचानक जैसे आसमान टूट पड़ा। टनों पत्थर अचानक मंदिर और उसके आसपास गिरने लगे।
पुरानी मान्यता है कि भगवान शिव का ये मंदिर आदि शंकराचार्य ने बनवाया था। रुद्रप्रयाग जिले में मौजूद इस मंदिर में भगवान शंकर के दर्शन करने के लिए हर साल हजारों की तादाद में भक्त उमड़ते हैं। आपको बता दें कि चार धाम यात्रा पिछले महीने 13 अप्रैल को शुरू हुई थी। जून के आखिरी महीने में मॉनसून आने की उम्मीदों के चलते अब भी हजारों लोग केदारनाथ दर्शन के लिए रास्ते में थे। लेकिन मॉनसून पहले ही नहीं आया अपने साथ तबाही भी लाया।
केदारनाथ से नीचे की तरफ बढ़े पानी के सैलाब ने रास्ते में आने वाली हर चीज। हर घर, हर दुकान को खत्म कर दिया। चश्मदीदों के मुताबिक केदारनाथ के बाद सबसे ज्यादा तबाही मची रामबाड़ा नाम की जगह पर। केदारनाथ से रामबाड़ा करीब 7 किलोमीटर दूर है। चश्मदीदों का कहना है कि अब रामबाड़ा का अस्तित्व ही खत्म हो चुका है। यानि दुकानें, इमारतें, घर सब कुछ खत्म हो चुके हैं।
रामबाड़ा के करीब 7 किलोमीटर नीचे पड़ता है गौरीकुंड। गौरीकुंड केदारनाथ से 14 किलोमीटर दूर है। चार धाम यात्रा के दौरान यहां भी हजारों की तादाद में भक्त रुकते हैं। लेकिन चश्मदीदों का कहना है कि जब चट्टानों से भरा हुआ पानी का सैलाब आया तो अपने साथ सब कुछ बहा ले गया। चंद खुशकिस्मत लोगों ने पास की पहाड़ियों पर चढ़कर अपनी जान बचाई। जिन भी लोगों ने दुकानों और इमारतों पर भरोसा किया वो सभी पानी में बह गए। बात खौफनाक लगे लेकिन चश्मदीद यही कह रहे हैं।
केदारनाथ में हुई अभूतपूर्व बारिश ने इलाके को मुर्दो की बस्ती में तब्दील कर दिया है यहां हर तरफ शव बिखरे हुए हैं उत्तराखंड सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि केदारनाथ से 123 शव बरामद किए गए हैं हर तरह बिखरे शवों की गिनती के लिए शनिवार को विशेषज्ञों का एक दल गया था। इस त्रासदी में हुए व्यापक नुकसान के बीच मोबाइल फोन टावर ठीक-ठाक बच गये लेकिन बिजली नहीं होने के कारण लोग अपने परिवारों से संपर्क नहीं कर पा रहे थे क्योंकि उनके फोन की बैटरी खत्म हो चुकी थी। उत्तराखंड में कुदरत ने गजब का कहर ढाया है। मूसलाधार बारिश और फ्लैश फ्लड ने केदारनाथ धाम में भारी तबाही मचाई है केदारनाथ धाम तबाह हो चुका है। केदारनाथ मंदिर को छोड़कर आसपास का इलाका बुरी तरह तबाह हो चुका है।

http://www.youtube.com/watch?feature=player_detailpage&v=gOWW_-lr4gc

Similar Post You May Like

  • जानिये बघेलखण्ड कि राजभाषा रिमॅंही कैसे फारसी और अग्रेजी में बदली:

    जानिये बघेलखण्ड कि राजभाषा रिमॅंही कैसे फारसी और अग्रेजी में बदली:

    सन 1857 के स्वतंत्रा संग्राम का समन कर एचईआईसी टूटकर ब्रिटिश इण्डिया गवर्नमेन्ट बनी। जिसकी राजधानी तत्कालीन कलकत्ता थी। भारत देश इण्डिया ग्रेटब्रिटेन का उपनिवेश हो गया। इसी वर्ष ब्रिटिश इण्डिया गवर्नमेन्ट की रीमाँ में एक एजेन्सी कायम होकर सन 1858 में नामबदल कर बन गयी सेन्ट्रल इण्डिया एजेन्सी और सन 1862 में स्थानान्तरित सतना हो गई थी। जहाँ सन 1867-68 से रेलगाडियाँ आने जानेे लगी थीं। सन 1870 म

  • एक साल में 365 वचन पूरे.. 164 वचन पूर्ण और 201 सतत पूरे

    एक साल में 365 वचन पूरे.. 164 वचन पूर्ण और 201 सतत पूरे

    मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के नेतृत्व में मध्यप्रदेश ने आज एक वर्ष पूरा किया। इस अवधि में प्रदेश सरकार ने दिसम्बर 2018 में प्रदेश विधानसभा के निर्वाचन के पूर्व जारी वचन-पत्र के बिन्दुओं को पूरी शिद्दत से अमली जामा पहनाया। पिछले एक वर्ष की अवधि के पूरे 365 दिनों में सरकार को प्रतिदिन एक वचन की पूर्ति/सतत पूर्ति करने में सफलता मिली। इस अवधि में 164 वचन पर पूर्ण रूप से और 201 वचन पर सतत् पूर्ति क

  • जल्द ही बॉलीवुड फिल्मों में नजर आ सकते हैं ड्वेन जॉनसन, वरुण धवन के बारे में कही ये बात

    जल्द ही बॉलीवुड फिल्मों में नजर आ सकते हैं ड्वेन जॉनसन, वरुण धवन के बारे में कही ये बात

    ड्वेन जॉनसन को बॉलीवुड की दुनिया काफी पसंद है और उनके अनुसार, वह कभी न कभी बॉलीवुड फिल्म में नजर आ सकते हैं। हॉलीवुड स्टार का मानना है कि बॉलीवुड की एक्शन फिल्म में काम करना मजेदार होगा। ड्वेन जॉनसन अपनी आगामी फिल्म 'जुमांजी : द नेक्स्ट लेवेल' के प्रोमोशन के दौरान जब उनसे पूछा गया कि तो क्या हम जल्द ही आपको बॉलीवुड फिल्म में देखेंगे? तो इस पर अभिनेता ने कहा, "मैं वहां शासन करना नहीं चाह

  • बरौंधा थाने के वीरगढ़ जंगल में सर्चिंग के दौरान दबोचे गए तीन डकैत

    बरौंधा थाने के वीरगढ़ जंगल में सर्चिंग के दौरान दबोचे गए तीन डकैत

    सतना। तराई में तीन लोगों को जिंदा जलाने और हेडमास्टर के अपहरण के बाद तीस हजार का इनामी डकैत ललित पटेल एमपी और यूपी पुलिस के लिए सिरदर्द बन गया है। डकैत गैंग को पकडऩे के लिए पुलिस ने अभियान चला रखा है। बीते दिनों दस्यु ललित पटेल के तीन साथी पुलिस के हत्थे चढ़ गए हैं। 10-10 हजार के इनामी तीनों डकैतों के कब्जे से एक बंदूक, कारतूस व दैनिक उपयोग की सामग्री बरामद की गई है। पकड़े गए डकैतों ने लल

  • मैं तुम्हारा अधिकारी हूं मेरा हिसाब से चलोगी तो कोई परेशानी नही आयेगी

    मैं तुम्हारा अधिकारी हूं मेरा हिसाब से चलोगी तो कोई परेशानी नही आयेगी

    मैं तुम्हारा अधिकारी हूं मेरा हिसाब से चलोगी तो कोई परेशानी नही आयेगी फिर पकड लिया मेरा हांथ, गर्दन में हांथ लगाया, अंगों को छुआ और जबरदस्ती करने की कोशिश की। यह आरोप है वन व

  • सोशल मीडिया पर लीक हुआ 'बाहुबली 2' का वीडियो

    सोशल मीडिया पर लीक हुआ 'बाहुबली 2' का वीडियो

    साल 2015 में रिलीज हुई एस.एस.राजामौली के निर्देशन में बनी फिल्म 'बाहुबली' बॉक्सऑफिस पर सबसे ज्यादा कमाई करने वाली दक्षिण भारतीय फिल्म बन गई। फिल्म ने इसके दूसरे भाग को देखने के &

  •  राजेन्द्र शुक्ल ने सिंहस्थ-2016 के प्रचार के लिए मोटर साइकिल रैली को हरी झंन्डी दिखाकर  रवाना किया।

    राजेन्द्र शुक्ल ने सिंहस्थ-2016 के प्रचार के लिए मोटर साइकिल रैली को हरी झंन्डी दिखाकर रवाना किया।

    भोपाल ऊर्जा खनिज एवं जनसंपर्क मंत्री श्री राजेन्द्र शुक्ल ने सिंहस्थ-2016 के प्रचार के लिए मोटर साइकिल रैली को हरी झंन्डी दिखाकर रवाना किया।

  • प्रेम प्रसंग में हुई शिक्षा कारोबारी की हत्या

    प्रेम प्रसंग में हुई शिक्षा कारोबारी की हत्या

    रायपुर भिलाई के शिक्षा कारोबारी अभिषेक मिश्रा अपहरण मामले का खुलासा हो गया है। कारोबारी की हत्या उसी के कॉलेज की एक टीचर के पति ने की थी। अभिषेक और टीचर के बीच अफेयर चल रहा 

  • नवाजुद्दीन सिद्दीकी यानी बॉलीवुड का माउंटेनमैन

    नवाजुद्दीन सिद्दीकी यानी बॉलीवुड का माउंटेनमैन

    नवाजुद्दीन सिद्दीकी यानी छोटे कद, सांवले रंग का एक आम सा शख्स। जिसे कुछ साल पहले पहली नजर में देखकर कोई शायद ही यकीन करता कि आने वाले समय में ये शख्स बॉलीवुड के सुपरस्टार्स è

ताज़ा खबर

Popular Lnks