आईएमएफ ने कहा, दुनिया वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुधार की स्थिति का लाभ उठाए

By Tejnews.com Fri, Oct 6th 2017 अंतरराष्ट्रीय व्यापार     

वॉशिंगटन: अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ) का मानना है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में बहुप्रतीक्षित सुधार अब अपनी जड़ें जमाने लगा है और दुनिया के देशों को इस अवसर का लाभ उठाना चाहिए. आईएमएफ की प्रमुख क्रिस्टीन लेगार्ड ने कहा कि वैश्विक स्तर पर जो सुधार दिख रहा है उसका लाभ उठाया जाना चाहिए, जिससे अधिक समावेशी अर्थव्यवस्था बनाई जा सके, जो सभी के लिए अनुकूल हो.

आईएमएफ के शोध का हवाला देते हुए लेगार्ड ने कहा कि जब अर्थव्यवस्था की सेहत दुरुस्त होगी तो सुधारों को लागू करना अधिक आसान होगा. लेगार्ड ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इस समय का इस्तेमाल आमदनी बढ़ाने, रोजगार पैदा करने और लोगों के भविष्य के लिए निवेश करने के लिए करना चाहिए, जिससे समावेशी वृद्धि को प्रोत्साहन दिया जा सके. हार्वर्ड विश्वविद्यालय में अपने संबोधन में लेगार्ड ने कहा कि बहुप्रतीक्षित सुधार अब अपनी जड़ें जमा रहा है.

उन्होंने कहा कि दुनिया को इस मौके का फायदा उठाना चाहिए ताकि तेजी को संरक्षित किया जा सके और अधिक समावेशी अर्थव्यवस्था का निर्माण किया जा सके, तो सभी लोगों के अनुकूल हो.

लेगार्ड ने अपने संबोधन में कहा कि यदि श्रमबल में महिलाओं की भागीदारी पुरुषों के समान हो जाए, तो अमेरिका में सकल घरेलू उत्पाद :जीडीपी: की वृद्धि दर पांच प्रतिशत बढ़ जाएगी. वहीं भारत में यह 27 प्रतिशत, मिस्र में 34 प्रतिशत तक बढ़ेगी. लेगार्ड का यह बयान आईएमएफ और विश्व बैंक की वार्षिक बैठक से एक सप्ताह पहले आया है. इस बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व वित्त मंत्री अरुण जेटली करेंगे.

Similar Post You May Like

  • Apple की बादशाहत खत्म, अब इस कंपनी के स्मार्टफोन हैं चीनियों की पहली पसंद

    Apple की बादशाहत खत्म, अब इस कंपनी के स्मार्टफोन हैं चीनियों की पहली पसंद

    बीजिंग: चीन में अपनी जड़ों को मजबूत करने में जुटे Apple को बड़ा झटका लगा है। एक सर्वे में खुलासा हुआ है कि चीन के स्मार्टफोन खरीदारों ने iPhone के बजाए घरेलू ब्रांड पर Huawei भरोसा जताया है। खरीदारों का कहना है कि उनकी पहली पसंद वावे है। फाइनेंशल टाइम्स के एक सर्वे के मुताबिक, 31.4 फीसदी से ज्यादा उत्तरदाताओं ने वावे को अपना पंसदीदा ब्रांड चुना और वावे ग्राहकों की पहली पसंद बन गया है। रिपोर्ट में

  • जल्‍द ही हवा में कर सकेंगे टैक्‍सी का सफर, दुबई में हुआ दुनिया की पहली ड्रोन टैक्‍सी का परीक्षण

    जल्‍द ही हवा में कर सकेंगे टैक्‍सी का सफर, दुबई में हुआ दुनिया की पहली ड्रोन टैक्‍सी का परीक्षण

    हवा में उड़ने वाली टैक्‍सी को हमने कल्‍पनाओं में या फिर हॉलीवुड मूवीज़ में देखा होगा। लेकिन दुबई में ड्रोन टैक्‍सी के रूप में यह सपना अब पूरा हो गया है। इसी हफ्ते दुनिया की पहली ड्रोन टैक्‍सी दुबई के आसमान में दिखाई दी। यहां पर ड्रोन टैक्‍सी का पहला सफल परीक्षण किया गया। माना जा रहा है कि यहां पर जल्‍द ही ड्रोन टैक्‍सी का व्‍यवसायिक संचालन शुरू हो सकता है। दुनिया की इस पहली उड़ने व

  • Nokia के इस ‘मोस्ट वॉन्टेड’ फोन का 3G वेरियंट लॉन्च, जानें क्या है खास

    Nokia के इस ‘मोस्ट वॉन्टेड’ फोन का 3G वेरियंट लॉन्च, जानें क्या है खास

    सिडनी: Nokia के सबसे लोकप्रिय मोबाइल फोन्स में से एक रहे 3310 को हाल ही में दोबारा लॉन्च किया गया था। HMD ग्लोबल के स्वामित्व वाली Nokia ने इस फोन के नए अवतार को 2G सपोर्ट के साथ लॉन्च किया था। अब, कंपनी ने 3310 के नए 3G वेरियंट को भी लॉन्च कर दिया है। Nokia 3310 3G नाम से लॉन्च किया गया यह स्मार्टफोन वार्म रेड, यलो, एज्योर और चारकोल कलर वेरियंट में मिलेगा। इस फोन को फिलहाल ऑस्ट्रेलियाई मार्केट में लॉन्च किया गया

  • 102000 रुपये का आईफोन एक्स खरीदने से पहले ये जरूरी इंतजाम कर चुके हैं?

    102000 रुपये का आईफोन एक्स खरीदने से पहले ये जरूरी इंतजाम कर चुके हैं?

    दुनिया की सबसे शानदार स्मार्टफोन कंपनी ने पिछले सप्ताह अपनी नई पीढ़ी का स्मार्टफोन लॉन्च किया जिसका नाम है आईफोन एक्स। यह 256GB वाला सबसे शानदार आईफोन है जिसकी कीमत लगभग 102,000 रुपये है जो अब तक का सबसे महंगा स्मार्टफोन है। इसमें कोई शक नहीं कि इतना खूबसूरत और शानदार नया फोन मिलने पर आपको बहुत खुशी मिलेगी, बेहद संतोष मिलेगा, यह बहुत उपयोगी भी होगा, इसपर आपको गौरव होगा और दूसरों से सम्मान भी

  • दुनिया का सबसे बड़ा कार बाज़ार चीन बंद करेगा पेट्रोल-डीज़ल कार

    दुनिया का सबसे बड़ा कार बाज़ार चीन बंद करेगा पेट्रोल-डीज़ल कार

    चीन डीजल और पेट्रोल से चलने वाली कारों पर अपने देश में प्रतिबंध लगाने की योजना बना रहा है। चीन दुनिया का सबसे बड़ा कार बाज़ार माना जाता है। चीन ने पिछले साल क़री़ब 2 करोड़ 80 लाख कारें बनाईं थी। यह पूरे विश्व का एक तिहाई हिस्सा है। सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार पेट्रोल-डीज़ल कारों पर प्रतिबंध के मामले में देश के उप उद्योग मंत्री शिन गुओबिन ने कहा कि इस पर रिसर्च शुरू कर दिया

ताज़ा खबर

Popular Lnks