जानें नवरात्र‍ में क्‍यों खेलते हैं गरबा, इसके पीछे की कहानी हैरान कर देगी

By Tejnews.com Tue, Oct 3rd 2017 कला-संस्कृति     

नवरात्र के दौरान पूरा देश मां दुर्गा की पूजा और उनके जयकारों से गूंज उठता है. लेकिन गुजरात में डांडिया खेलकर इसे कुछ खास ही अंदाज में मनाया जाता है. आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आखिर गुजरात में क्यों प्रसिद्ध है डांडिया.

गुजरात में नवरात्र पर्व के दौरान नौ दिनों तक हर तरफ गरबा और गरबा की धूम होती है. यह गुजरात का पारंपरिक लोक नृत्य है, जिसे सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है.

कहा जाता है कि इन नौ दिनों में गरबा खेल कर भक्तजन मां दुर्गा को प्रसन्न करने की कोशिश करते हैं और अपने लिए मनचाहे फल की कामना करते हैं.

धार्मिक महत्व के साथ ही दांडिया मौज-मस्ती के रंग बिखरने के लिए जाना जाता है. इसे लेकर श्रद्धालुओं में खासा उत्साह देखा जा सकता है. इस आयोजन में सभी आयु वर्ग के लोग शामिल होते हैं.

युवाओं के लिए अपने संस्कृति से जुड़ने का सुनहरा अवसर होता है. वे पूरी रात डांडिया और गरबे की मस्ती में झूमते हैं. इससे चारों तरफ उत्सव का माहौल रहता है.

नवरात्रों में शाम को डांडिया नृत्य के जरिए मां दुर्गा की पूजा की जाती है. नवरात्रों की पहली रात्रि को कच्चे मिट्टी के छेदयुक्त घड़े, जिसे 'गरबो' कहते हैं.

इसकी स्थापना होती है. फिर उसके अंदर दीपक जलाया जाता है. यह दीप ज्ञान की रोशनी का प्रतीक माना जाता है.

वर्षों पहले गुजरात में महिषासुर राक्षस के आतंक से त्रस्त लोगों ने ब्रह्मा, विष्णु और महेश की आराधना की.

देवताओं के प्रकोप से तब देवी जगदंबा प्रकट हुर्इं और उन्होंने उस राक्षस का वध किया. तभी से यहां नवरात्रि में भक्तगण नौ दिन तक उपवास करने लगे और देवी के सम्मान में डांडिया करने लगे.

Similar Post You May Like

  • कई राज्यों के बुनकरों ने एक साथ लगाई स्टाइलिश साड़ियों की प्रदर्शनी

    कई राज्यों के बुनकरों ने एक साथ लगाई स्टाइलिश साड़ियों की प्रदर्शनी

    नई दिल्ली: साड़ी भारतीय महिला की शान मानी जाती है। 5 से 6 गज की लंबी साड़ी का अपना ही एक जादू है। कपड़े का एक लंबा टुकड़ा को हम मैजिक तरीके से अपने एज, स्टाइल में ढाल लेते है। फैशन की बात करें तो साड़ी का क्रेज अलग है। जिसका कोई भी ड्रेस मुकाबला नहीं कर सकती। इसे अब विदेशो में भी काफी पसंद किया जाता है। साड़ी पहनकर हर महिला की खूबसूरती में चार-चांद लग जाते है। अब आप सोच रहे होगे कि साड़ी के

  • करवा चौथ में इन मेंहदी की इन डिजाइन से बढ़ाएं अपनी खूबसूरती

    करवा चौथ में इन मेंहदी की इन डिजाइन से बढ़ाएं अपनी खूबसूरती

    भारतीय परंपरा में शादी-विवाह और त्योहारों के अवसर पर मेंहदी लगाना शुभ माना जाता है. सुहागनों के लिए मेहंदी सौभाग्य की निशानी है. करवाचौथ के त्योहार पर महिलाएं इसे लगाकर शगुन करती है। इस त्योहार के आने में अब कुछ ही दिन बचे है। बाजार में तो रोनक देखते ही बन रही है। करवा चौथ में मेंहदी नहीं लगाई तो श्रृंगार अधूरा माना जाता है, क्योंकि यह 16 श्रृंगार में एक मानी जाती है। जिसे शगुन के रुप म

  • पेन पकड़ने का स्टाइल बहुत कुछ बता देता है आपके बारे में

    पेन पकड़ने का स्टाइल बहुत कुछ बता देता है आपके बारे में

    क्या आपने कभी नोटिस किया है कि आप लिखते समय किस तरह पेन पकड़ते हैं? हममें से अधिकांश ने इस बात पर गौर नहीं किया होगा। हम तो पेन उठाते हैं, अंगुलियों से पकड़ते हैं और लिखना शुरू कर देते हैं। हर किसी के पेन पकड़ने का स्टाइल अलग होता है। कोई पेन को अपने अंगूठे और इंडेक्स फिंगर में दबाकर रखता है जोकि ट्रेडिशनल स्टाइल है। कुछ इसे कुछ अलग तरीके से होल्ड कर रखते हैं। तो इसमें क्या खास हैं? साइक

  • ऐसा होगा घर में स्टोर रूम तो बना रहेगा अन्न धन का भंडार

    ऐसा होगा घर में स्टोर रूम तो बना रहेगा अन्न धन का भंडार

    घर में सुख समृद्धि और धन के मामले में सबसे ज्यादा महत्व स्टोर का होता है। इसलिए किराए का मकान हो या खुद का लोगों को सबसे पहले स्टोर रूम और भंडार कोण का ही ख्याल आता है। इसकी वजह यह है कि इसी दिशा और स्थान से घर में सुख शांति और धन समृद्धि का आगमन होता है। वास्तु विज्ञान के अनुसार भंडार कक्ष यानी स्टोर रूम पूजा घर से लगा हुआ या सामने हो तो यह बहुत ही शुभ रहता है। इससे घर में घर में धन का आग

  • अंक ज्योतिष में नाम का पहला अक्षर बताता है 'कैसे हैं आप'

    अंक ज्योतिष में नाम का पहला अक्षर बताता है 'कैसे हैं आप'

    ज्योतिष शास्त्र में जन्म का समय, नक्षत्र, दिन और नाम के अक्षर भी मायने रखते हैं. यहां हर बात का महत्व होता है. अंक ज्योतिष में नाम के पहले अक्षर से व्यक्ति के स्वभाव के बारे में बहुत कुछ बताया जाता है. जानिए पहले k, g, r, d अक्षर वाले नाम के लोगों के व्यक्ति पर क्या कहते हैं अंक ज्योतिष के जानकार. 'K' अक्षर वाले k अक्षर वाले नाम के लोगों में भरपूर साहस और ज्ञान होता है, ये प्रोफेशनली सोचते हैं ल

  • सावन में मेंहदी के बिना महिला का श्रृंगार है अधूरा, देखे कुठ लेटेस्ट डिजाइन्स

    सावन में मेंहदी के बिना महिला का श्रृंगार है अधूरा, देखे कुठ लेटेस्ट डिजाइन्स

    देश में फेस्‍टीवल सीजन शुरु हो चुका है और अगले कुछ माह एक से बढ़कर एक त्‍यौहार आ रहे हैं। फेस्‍टीवल सीजन में महिलाएं अपने हाथों में मेहंदी लगाना बेहद पसंद करती है फिर चाहे सावन, रक्षा बंधन का त्‍यौहार हो या फिर दीपावली या जन्‍माष्‍टमी का। महिलाओं के लिए ये महीना उनके सुहाग के नजरिए से काफी खास है। महिलाएं इस महीने में पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखती हैं, श्रृंगार करती हैं, जिसमें

  • शरीर के तापमान से चार्ज होंगे छोटे उपकरण

    शरीर के तापमान से चार्ज होंगे छोटे उपकरण

    अमेरिका की कम्पनी श्परपेचुआश् ने शरीर के तापमान से इलेक्ट्रानिक मशीन को चार्ज करने का तरीका इजाद किया है। यह कम्पनी हरित विद्युत स्रोत के लिए काम करती है। श्फॉक्स न्यूजश् के मुताबिकए इस सप्ताह न्यूयार्क में हुए एक तकनीकी कार्यक्रम के दौरान श्परपेचुआश् ने शरीर से मशीन चार्ज करने का तरीका दिखाया। यह कोई नया तरीका नहीं है। यह तकनीक दो सौ साल पहले भौतिकवादी थॉमस जोहानन सीबेक के खोज

ताज़ा खबर

Popular Lnks