महात्मा गांधी ने इंदौर में देखा था हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने का सपना

By Tejnews.com Thu, Sep 14th 2017 मध्य प्रदेश     

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के साथ इंदौर शहर की भी ऐतिहासिक यादें जुड़ी हुई हैं. इंदौर ही वो शहर था जहां महात्मा गांधी के मन में हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाए जाने का विचार पहली बार आया था.

इंदौर में महात्मा गांधी पहली बार 29 मार्च 1918 में हिंदी साहित्य समिति के मानस भवन का शिलान्यास और दूसरी बार 20 अप्रैल 1935 में इसी भवन का उद्घाटन करने आए थे. भवन के उद्घाटन के लिए पहुंचे बापू को इंदौर के नेहरू पार्क में बैठकर ही सबसे पहले हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने का विचार आया था.

हिंदी को राष्ट्रभाषा
महात्मा गांधी पहली बार 1918 में इंदौर पहुंचे थे. उस समय शहर में हिंदी भाषा को लेकर एक बड़ी बैठक होने वाली थी. उन्होंने उस सभा में हिस्सा लेकर उसे आधिकारिक बनाया था.

राष्ट्रपिता दूसरी बार 1935 में इंदौर आए थे. इस बार वह हिंदी सभा की अध्यक्षता करने पहुंचे थे. दक्षिण भारत से भी हिंदी भाषा को लेकर मिल रही काफी शानदार प्रतिक्रिया के कारण उन्होंने हिन्दी को राष्ट्रभाषा बनाने की मुहिम शुरू की थी.

काठियावाड़ी वेशभूषा में आए थे बापू
बापू को यूं तो हमेशा ही सबने उनकी खादी की धोती में देखा था पर जब वो 20 अप्रैल 1935 को हिंदी साहित्य समिति के मानस भवन के शिलान्यास के लिए इंदौर आए तो उन्होंने काठियावाड़ी वेशभूषा पहनी थी. इस दौरान उनकी काठियावाड़ी पगड़ी आकर्षण का केंद्र बनी हुई थी.

1935 में महात्मा गांधी इंदौर में 20 से 23 अप्रैल तक ठहरे थे. इस दौरान समिति का 24वां हिंदी साहित्य सम्मेलन हुआ था जिसमें गांधीजी सभापति थे. उस वक्त के बिस्को पार्क (नेहरू पार्क) में आयोजित सम्मेलन में उन्होंने फिर राष्ट्रभाषा के रूप में हिंदी की पैरवी की थी.

Similar Post You May Like

  • रेलवे स्टेशन के पास तीन घंटे तक गैंगरेप, पढ़ें- रुह कंपाने वाली FIR के अंश

    रेलवे स्टेशन के पास तीन घंटे तक गैंगरेप, पढ़ें- रुह कंपाने वाली FIR के अंश

    मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में सिविल सर्विस परीक्षाओं की तैयारी कर रही छात्रा से गैंगरेप का सनसनीखेज मामला सामने आया है. इस मामले में राजधानी पुलिस की बड़ी लापरवाही का भी खुलासा हुआ है. एफआईआर जिसमें भोपाल पुलिस की लापरवाही का जिक्र किया गया है. भोपाल की थाना पुलिस पीड़ित छात्रा और उसके परिजन को एफआईआर दर्ज करने के लिए दिनभर घूमाती रही. पुलिस के अधिकारी और कर्मचारियों ने बार-ब

  • छात्रा ने कैंटीन में किया नाश्ता, फिर स्टूडेंट ने बताई ऐसी बात कि हो गई बीमार

    छात्रा ने कैंटीन में किया नाश्ता, फिर स्टूडेंट ने बताई ऐसी बात कि हो गई बीमार

    मध्य प्रदेश के ग्वालियर में पैरामिलिट्री की ट्रेनिंग में आई एक छात्र की अचानक तबियत बिगड़ने से हड़कंप मच गया. दरअसल, पद्मा विद्यालय में पचास छात्राएं पैरामिलिट्री ट्रेनिंग के लिए पहुंची हैं. शुक्रवार को भिंड निवासी रीता शर्मा नाम की छात्रा की अचानक तबियत बिगड़ गई, जिसे जयारोग्य अस्पताल में भर्ती कराया गया. साथी छात्राओं ने बताया कि रीता ने कैंटीन से समोसा खाया उसके बाद वाटर कू

  • भोपाल गैंगरेपः तीन थाना प्रभारी और दो SI सस्पेंड, सीएसपी को भी हटाया

    भोपाल गैंगरेपः तीन थाना प्रभारी और दो SI सस्पेंड, सीएसपी को भी हटाया

    मध्य प्रदेश के भोपाल में यूपीएससी की तैयारी कर रही छात्रा के साथ गैंगरेप के मामले में लापरवाही बरतने के मामले में पुलिस अफसरों पर गाज गिरी है. मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद एक सीएसपी को पीएचक्यू में हटा दिया गया है, जबकि तीन थाना प्रभारियों और दो सब इंस्पेक्टर को सस्पेंड कर दिया गया है. दरअसल, राजधानी को दहला देने वाली घटना में पुलिस की लापरवाही के चलते शिवराज सरकार की काफी किरकिर

  • शिवराज के खिलाफ कब घोषित होगा कांग्रेस का चेहरा, कमलनाथ ने किया खुलासा

    शिवराज के खिलाफ कब घोषित होगा कांग्रेस का चेहरा, कमलनाथ ने किया खुलासा

    वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ ने कहा कि मध्य प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ कांग्रेस की ओर इस पद के दावेदार की घोषणा सही समय पर की जाएगी. इस बयान से संकेत मिलता है कि सूबे की सत्ता से पार्टी का डेढ़ दशक पुराना वनवास खत्म करने के लिये कांग्रेस किसी चेहरे को मुख्यमंत्री पद के दावेदार के रूप में उतारने के फॉर्मूले पर आगे बढ़ रह

  • भाजपा के मानहानि के दावे पर बोले दिग्विजय, 'एक केस और सही'

    भाजपा के मानहानि के दावे पर बोले दिग्विजय, 'एक केस और सही'

    व्यापम घोटाले के सीबीआई द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को क्लीन चिट मिलने की पृष्ठभूमि में भाजपा की ओर से मानहानि का दावा करने की बात पर कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह का कहना है कि उनके खिलाफ पहले से ही मानहानि के कई मामले दर्ज हैं, ऐसे में एक और सही. उल्लेखनीय है कि सीबीआई ने 31 अक्तूबर को भोपाल की विशेष सीबीआई अदालत में अपना आरोप पत्र दाखिल किया. जिसमें उस आरोप को खारिज कर द

  • मध्यप्रदेश में भावांतर के भंवर में किसान! बीजेपी के समर्थक किसान ने कहा- सरकार दे रही 'लॉलीपॉप'

    मध्यप्रदेश में भावांतर के भंवर में किसान! बीजेपी के समर्थक किसान ने कहा- सरकार दे रही 'लॉलीपॉप'

    भोपाल: मध्यप्रदेश में मंदसौर के आंदोलन के वक्त अन्नदाता का गुस्सा उबाल पर दिखा. सरकार ने इसे कम करने की कोशिश के तहत योजनाओं के ताबड़तोड़ ऐलान किए लेकिन किसान इससे और नाराज़ है. किसानों को सही कीमत के दावे के साथ सरकार ने भावांतर भुगतान योजना शुरू की लेकिन इसके पेंच से किसान और गुस्से में है. सरकार ने ये भी ऐलान किया कि व्यापारी उसे 50,000 नकद दे जिससे व्यापारी की पेशानी पर परेशानी के बल प

  • MP से सामने आया श्मशान घोटाला, करोड़ों रुपये हुए रिलीज़, पर कागजों में ही बने 'मुक्तिधाम'

    MP से सामने आया श्मशान घोटाला, करोड़ों रुपये हुए रिलीज़, पर कागजों में ही बने 'मुक्तिधाम'

    गुना: मध्य प्रदेश से मुक्तिधाम यानी श्मशान घोटाला सामने आया है. अकेले गुना ज़िले में करोड़ों की राशि निकाल ली गई लेकिन श्मशान या तो बने नहीं और अगर बने भी तो आधे-अधूरे. प्रशासन ने जब संबंधित सरपंचों, अधिकारियों के खिलाफ FIR करने की धमकी दी तो रातों-रात शमशान बन गए. गुना में सरपंचों, पंचायत सचिव और अधिकारियों ने 15 करोड़ रुपये के घोटाले के सुराग मिल रहे हैं. गुना ज़िले के 1100 गांव में 700 मुक्तिधाम

  • सरकार का 11000 कैदियों को तोहफा, माफ होगी 2 महीने की सजा

    सरकार का 11000 कैदियों को तोहफा, माफ होगी 2 महीने की सजा

    मध्यप्रदेश के 62वें स्थापना दिवस पर सरकार ने कैदियों को बड़ा तोहफा दिया है. सरकार की घोषणा के बाद प्रदेश की जेलों में बंद 11 हजार कैदियों की सजा में से दो महीने की सजा को माफ कर दिया गया है. सजा माफी की वजह से कई कैदी रिहा भी हो गए. साथ ही सरकार ने जेलों से रिहा हुए कैदियों की सहकारिता संस्थान बनाकर उन्हें रोजगार देने की भी घोषणा की है. शिवराज सरकार के एक फैसले ने स्थापना दिवस के दिन चालीस

  • भोपाल में कोचिंग से लौट रही छात्रा से गैंगरेप, आरोपी को खुद पकड़ा तब दर्ज हुआ केस

    भोपाल में कोचिंग से लौट रही छात्रा से गैंगरेप, आरोपी को खुद पकड़ा तब दर्ज हुआ केस

    मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के हबीबगंज आरपीएफ चौकी के पास गैंगरेप की घटना में बड़ा खुलासा हुआ है. भोपाल पुलिस पीड़ित छात्रा और उसके परिजन को एफआईआर दर्ज करने के लिए दिनभर घूमाती रही. पुलिस के अधिकारी और कर्मचारियों ने बार-बार घटना स्थल का निरीक्षण और बयान दर्ज कर पीड़ित छात्रा और उनके परिजनों को परेशान किया. 31 अक्टूबर की देर शाम भोपाल आरपीएफ में पदस्थ एएसआई की बेटी के साथ चार आरोप

  • सिंधिया का शिवराज पर तंज, उड़नखटोले में उड़ने वाले क्या जानें सड़कों का हाल

    सिंधिया का शिवराज पर तंज, उड़नखटोले में उड़ने वाले क्या जानें सड़कों का हाल

    मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की नर्मदा पदयात्रा में शामिल होने के लिए इंदौर पहुंचे कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के अमेरिका से मध्यप्रदेश की अच्छी सड़कों होने वाले बयान पर तंज कसते हुए कहा कि मुख्यमंत्री उड़नखटोले से नीचे उतर कर सड़क पर चलेंगे तो पता चलेगा कि आखिर सड़कों की हालत क्या हैं एयरपोर्ट पर मीडिया से बात करते हुए स

ताज़ा खबर

Popular Lnks