महाकाल पर आया ‘महासंकट’: घटते शिवलिंग का खुला राज, भस्‍म आरती और खतरे में शिवलिंग?

By Tejnews.com 2017-09-12 मध्य प्रदेश     

उज्जैन: महाकाल पर महासंकट आ गया है। महादेव के शिवलिंग पर उन्हीं के भक्तों के कारण बड़ा खतरा मंडरा रहा है। 12 ज्योर्तिलिंगों में से एक उज्जैन के महाकाल के शिवलिंग का आकार धीरे-धीरे छोटा हो रहा है। कहा जा रहा है ये सब हो रहा है भस्म आरती और पंचामृत की वजह से। महाकाल के घटते स्वरूप पर देश की सबसे बड़ी अदालत ने भी चिंता जाहिर की है और जांच के लिए एक टीम गठित की है। इस टीम ने हाल ही में उज्जैन जाकर महाकाल मंदिर की जांच की। महाकालेश्वर की फोटोग्राफी की और महाकाल को चढ़ने वाले प्रसाद के सैंपल भी लिए।

ज्योतिर्लिंग पर सबसे बड़ा खतरा

उज्जैन में महाकाल की भस्मआरती का अलौकिक नजारा होता है, जो भी महाकाल की भस्मआरती देख लेता है शिवमय हो जाता है। देश के कोने कोने से लोग आरती का हिस्सा बनने के लिए आते हैं। यहीं नहीं बाबा का रुद्राभिषेक, पंचामृत से स्नान और अभिषेक देखने के लिए भक्तों की भीड़ लगी रहती है। अब महाकाल की भस्म आरती पर महासंकट मंडरा रहा है। अब एक ऐसी ख़बर आई है जिसे सुनकर शिव भक्त परेशान हैं। इस संकट से देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट तक की नींद उड़ गई है। ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर का क्षरण हो रहा है यानि वो धीरे-धीर घिसकर आकार में कम होता जा रहा है।

भस्म आरती और खतरे में भोलेनाथ

शिवलिंग के ऊपर पर छोटे-छोटे कई निशान बन गये हैं, ये हाल शिवलिंग के दूसरी तरफ भी है। धीरे-धीरे इस तरह के निशान पूरे शिवलिंग पर दिखने लगे। कहीं कहीं तो शिवलिंग की कुछ परत भी उतरी हुई नजर आ रही है।

12 ज्योतिर्लिंगों में शामिल बाबा महाकाल मंदिर में शिवलिंग पर श्रद्धालुओं द्वारा पंचामृत, दूध, जलाभिषेक, हल्दी-कुंकू, अबीर, गुलाल लगाने, पूजन-अर्चन के दौरान शिवलिंग को हाथ से रगड़ने सहित तमाम कारणों से शिवलिंग के क्षरण होने की बात सामने आ रही थी। इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दी गई थी जिस पर सुप्रीम कोर्ट ने संज्ञान लेते हुए एक टीम गठित की। इस टीम को महाकाल मंदिर के स्ट्रेक्चर और ज्योतिर्लिंग के क्षरण का जिम्मा सौंपा। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर देहरादून, भोपाल और इंदौर की 4 सदस्यीय टीम उज्जैन पहुंची और जांच शुरू की।

शिवलिंग के एक-एक हिस्से की टीम ने जांच

टीम ने ज्योतिर्लिंग की गोलाई और ऊंचाई का माप लिया
टीम के सदस्यों ने ज्योतिर्लिंग का जलाभिषेक के समय निरीक्षण किया
इसके बाद शिवलिंग को सुखाकर भी जांच की गई
ज्योतिर्लिंग के निचले भाग में दिखाई देने वाले छिद्रों की फोटाग्राफी भी कराई
ज्योतिर्लिंग पर जमी श्रृंगार सामग्री के नमूने भी जांच के लिए साथ ले गए

अभी तो जांच टीम अपने साथ कुछ सैंपल लेकर गई है जिनकी जांच देहरादून की लैब में होगी। टीम लगातार उज्जैन आती रहेगी ताकि शिवलिंग में हो रहे बदलाव की जांच करेगी उसके आकार में कोई परिवर्तन हुआ है उसका पता चल सके। जांच टीम ने सिर्फ शिवलिंग की ही जांच नहीं की बल्कि टीम ने तीन घंटे तक मंदिर परिसर में घूमें। यहां बने छोटे प्राचीन मंदिरों, इनकी दीवारों, शिखरों, मूर्तियों सहित कोटितीर्थ कुंड व शिखर के ऊपर जाकर एक-एक चीज का निरीक्षण किया। चार हफ्तों में टीम को अपनी जांच रिपोर्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंपनी है। हाल ही में विद्धत परिषद की हुई बैठक में शिवलिंग के क्षरण होने का मुद्दा उठा था। बैठक में कहा गया था कि महाकाल के श्रृंगार में इस्तेमाल में होने वाली भांग की वजह से शिवलिंग का क्षरण हो रहा है। हालांकि कुछ ज्योतिषाचार्य इस बात से इतेफाक नहीं रखते हैं।

घटते शिवलिंग का खुला राज़

महाकाल मंदिर में हर रोज सुबह चार बजे से भस्म आरती शुरू होती है जो सुबह छह बजे तक चलती है। इस दौरान महाकाल को जल और पंचामृत से स्नान करवाया जाता है। इसके अलावा दिन में पांच बार महाकाल का श्रंगार किया जाता है। साथ ही श्रद्धालु भी अपनी आस्था के मुताबिक ज्योतिर्लिंग पर जल और पंचामृत चढ़ाते हैं। भक्तों की मान्यता है कि पंचामृत चढ़ाने से उन पर बाबा की कृपा होती है। पंचामृत में दूध, दही और घी के साथ दूसरी सामग्री जैसे चावल, रोली मिली होती हैं। आजकल दूध दही और घी में मिलावट होती है साथ ही चढ़ाई जाने वाली दूसरी सामग्री भी अशुद्ध मिलती है। जानकारों के मुताबिक मिलावटी सामग्री से बने पंचामृत को चढ़ाए जाने से ही महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग को नुकसान पहुंच रहा है।

Similar Post You May Like

  • महिलाओं के लिए सुरक्षित पर्यटन-स्थल परियोजना स्वीकृत

    महिलाओं के लिए सुरक्षित पर्यटन-स्थल परियोजना स्वीकृत

    मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा पर्यटन स्थलों को ''''महिलाओं के लिये सुरक्षित पर्यटन-स्थल'''''''' के रूप में विकसित करने के लिये निर्भया के प्रस्ताव को एम्पावर्ड कमेटी ने मंजूरी दे दी है। नई दिल्ली में गुरूवार को एम्पावर्ड कमेटी की बैठक में सचिव, पर्यटन श्री फैज अहमद किदवई ने परियोजना संचालन के लिये केन्द्र सरकार महिला एवं बाल विकास से वित्तीय एवं तकनीकी सहयोग के लिये प्रजेंटेशन दिया

  • सिर्फ 34 हजार को मिला रोजगार, कमलनाथ सरकार में चार गुना बढ़े शिक्षित बेरोजगार...

    सिर्फ 34 हजार को मिला रोजगार, कमलनाथ सरकार में चार गुना बढ़े शिक्षित बेरोजगार...

    मध्यप्रदेश में पिछले एक साल में पंजीकृत शिक्षित बेरोजगारों की तादात सात लाख से बढ़कर 28 लाख पहुंच गई है। वहीं, इस दौरान केवल 34 हजार युवाओं को रोजगार मिला है। यह जानकारी मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बुधवार को विधानसभा में दी। इकोनॉमिक टाइम्स की खबर के अनुसार, एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने बताया कि बेरोजगार युवाओं की तादात और बढ़ सकती है क्योंकि बड़ी संख्या में युवाओ ने नौकरी की आस में पंजीक

  • इंदौर और भोपाल में होगा आईफा अवार्ड-2020, मुख्यमंत्री द्वारा आईफा का प्रस्ताव मंजूर

    इंदौर और भोपाल में होगा आईफा अवार्ड-2020, मुख्यमंत्री द्वारा आईफा का प्रस्ताव मंजूर

    एमपी के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आईफा द्वारा मध्यप्रदेश में अवार्ड समारोह-2020 आयोजित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. आईफा अवार्ड-2020 भोपाल और इंदौर शहर में आयोजित किया जाएगा. इस आयोजन से मध्यप्रदेश पूरे विश्व के कोने-कोने तक पहुंचेगा. पहला आईफा अवार्ड समारोह वर्ष 2000 में लंदन में आयोजित किया गया था. आईफा अवार्ड से फिल्म जगत की महान हस्ती अमिताभ बच्चन का जुड़ाव मध्यप्रदेश के लिये गौर

  • बंदूक का लाइसेंस चाहिए तो गोशाला को दान करने होंगे 10 कंबल

    बंदूक का लाइसेंस चाहिए तो गोशाला को दान करने होंगे 10 कंबल

    ग्वालियर: मध्य प्रदेश के ग्वालियर में अगर आपको बंदूक का लाइसेंस चाहिए तो आपको अन्य शर्तों के साथ-साथ एक बेहद ही अलग तरह की शर्त पूरी करनी पड़ेगी। ग्वालियर के कलेक्टर अनुराग चौधरी ने एक ट्वीट के जरिए शस्त्र लाइसेंस चाहने वालों को इस शर्त के बारे में बताते हुए कहा है कि उन्हें इसके लिए गोशाला को कम से कम 10 कंबल दान करने होंगे। अनुराग चौधरी इससे पहले लाइसेंस के बदले पौधे लगवाने की शर्त

  • दिल्ली में 'मोहल्ला क्लीनिक' की तर्ज पर CM कमलनाथ ने 'संजीवनी क्लीनिक' का किया उद्घाटन

    दिल्ली में 'मोहल्ला क्लीनिक' की तर्ज पर CM कमलनाथ ने 'संजीवनी क्लीनिक' का किया उद्घाटन

    इंदौर: दिल्ली के मोहल्ला क्लीनिकों की तर्ज पर मध्य प्रदेश सरकार ने संजीवनी क्लीनिक खोलने के महत्वाकांक्षी योजना की शुरुआत शनिवार से की. ये क्लीनिक स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के तहत कस्बाई और शहरी क्षेत्रों की झुग्गी बस्तियों के पास खोले जा रहे हैं. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इंदौर के निपानिया क्षेत्र में राज्य के पहले संजीवनी क्लीनिक का उद्घाटन किया. उन्होंने कहा, ‘‘स्वास्थ्य सम

  • रेलवे स्टेशन के पास तीन घंटे तक गैंगरेप, पढ़ें- रुह कंपाने वाली FIR के अंश

    रेलवे स्टेशन के पास तीन घंटे तक गैंगरेप, पढ़ें- रुह कंपाने वाली FIR के अंश

    मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में सिविल सर्विस परीक्षाओं की तैयारी कर रही छात्रा से गैंगरेप का सनसनीखेज मामला सामने आया है. इस मामले में राजधानी पुलिस की बड़ी लापरवाही का भी खुलासा हुआ है. एफआईआर जिसमें भोपाल पुलिस की लापरवाही का जिक्र किया गया है. भोपाल की थाना पुलिस पीड़ित छात्रा और उसके परिजन को एफआईआर दर्ज करने के लिए दिनभर घूमाती रही. पुलिस के अधिकारी और कर्मचारियों ने बार-ब

  • छात्रा ने कैंटीन में किया नाश्ता, फिर स्टूडेंट ने बताई ऐसी बात कि हो गई बीमार

    छात्रा ने कैंटीन में किया नाश्ता, फिर स्टूडेंट ने बताई ऐसी बात कि हो गई बीमार

    मध्य प्रदेश के ग्वालियर में पैरामिलिट्री की ट्रेनिंग में आई एक छात्र की अचानक तबियत बिगड़ने से हड़कंप मच गया. दरअसल, पद्मा विद्यालय में पचास छात्राएं पैरामिलिट्री ट्रेनिंग के लिए पहुंची हैं. शुक्रवार को भिंड निवासी रीता शर्मा नाम की छात्रा की अचानक तबियत बिगड़ गई, जिसे जयारोग्य अस्पताल में भर्ती कराया गया. साथी छात्राओं ने बताया कि रीता ने कैंटीन से समोसा खाया उसके बाद वाटर कू

  • भोपाल गैंगरेपः तीन थाना प्रभारी और दो SI सस्पेंड, सीएसपी को भी हटाया

    भोपाल गैंगरेपः तीन थाना प्रभारी और दो SI सस्पेंड, सीएसपी को भी हटाया

    मध्य प्रदेश के भोपाल में यूपीएससी की तैयारी कर रही छात्रा के साथ गैंगरेप के मामले में लापरवाही बरतने के मामले में पुलिस अफसरों पर गाज गिरी है. मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद एक सीएसपी को पीएचक्यू में हटा दिया गया है, जबकि तीन थाना प्रभारियों और दो सब इंस्पेक्टर को सस्पेंड कर दिया गया है. दरअसल, राजधानी को दहला देने वाली घटना में पुलिस की लापरवाही के चलते शिवराज सरकार की काफी किरकिर

  • शिवराज के खिलाफ कब घोषित होगा कांग्रेस का चेहरा, कमलनाथ ने किया खुलासा

    शिवराज के खिलाफ कब घोषित होगा कांग्रेस का चेहरा, कमलनाथ ने किया खुलासा

    वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ ने कहा कि मध्य प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ कांग्रेस की ओर इस पद के दावेदार की घोषणा सही समय पर की जाएगी. इस बयान से संकेत मिलता है कि सूबे की सत्ता से पार्टी का डेढ़ दशक पुराना वनवास खत्म करने के लिये कांग्रेस किसी चेहरे को मुख्यमंत्री पद के दावेदार के रूप में उतारने के फॉर्मूले पर आगे बढ़ रह

  • भाजपा के मानहानि के दावे पर बोले दिग्विजय, 'एक केस और सही'

    भाजपा के मानहानि के दावे पर बोले दिग्विजय, 'एक केस और सही'

    व्यापम घोटाले के सीबीआई द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को क्लीन चिट मिलने की पृष्ठभूमि में भाजपा की ओर से मानहानि का दावा करने की बात पर कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह का कहना है कि उनके खिलाफ पहले से ही मानहानि के कई मामले दर्ज हैं, ऐसे में एक और सही. उल्लेखनीय है कि सीबीआई ने 31 अक्तूबर को भोपाल की विशेष सीबीआई अदालत में अपना आरोप पत्र दाखिल किया. जिसमें उस आरोप को खारिज कर द

ताज़ा खबर

Popular Lnks