निर्मला सीतारमण ने रक्षा मंत्री का पदभार संभाला, सैन्य तैयारियों पर रहेगा जोर

By Tejnews.com Fri, Sep 8th 2017 राजनीति

निर्मला सीतारमण ने आज पहली पूर्णकालिक महिला रक्षा मंत्री के तौर पर रक्षा मंत्रालय का कार्यभार संभाल लिया। उन्होंने कहा कि सैन्य तैयारियां, सैन्य उपकरणों के उत्पादन का स्वदेशीकरण, बहुत समय से लंबित मुद्दों का हल और सैनिकों का कल्याण उनके प्राथमिकता क्षेत्रों में शामिल हैं।

निर्मला ने अपने पूर्ववर्ती अरुण जेटली की मौजूदगी में कार्यभाल संभाला। इससे पहले 1970 के दशक में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के पास यह मंत्रालय था। मनोहर पर्रिकर के इस्तीफे के बाद मार्च में जेटली को रक्षा मंत्रालय का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया था। पर्रिकर ने गोवा का मुख्यमंत्री पद संभालने के लिए केंद्रीय कैबिनेट से इस्तीफा दिया था।

उनके कार्यभार संभालने के पहले एक पुजारी ने रक्षा मंत्री के कक्ष में पूजा अर्चना की। निर्मला ने कार्यभार संभालने के बाद वहां मौजूद वरिष्ठ अधिकारियों से संक्षिप्त बातचीत की। इस अवसर पर निर्मला के अभिभावक भी वहां मौजूद थे। निर्मला ने संवाददाताओं से कहा, मेरी प्राथमिकता निश्चित तौर पर सशस्त्र बल रहेंगे। यह महत्वपूर्ण है कि भारतीय सशस्त्र बलों को आवश्यक बंदोबस्त और उपकरण मुहैया कराने के मामले में पूरा ध्यान दिया जाए।

सशस्त्र बल चीन द्वारा सीमाओं पर आक्रामक रवैया अपनाने और पाकिस्तान द्वारा चलाये जा रहे निर्बाध छद्म युद्ध के मद्देनजर अपनी समग्र क्षमताएं बढ़ाने पर जोर दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं केन्द्रीय मंत्रिमंडल से बातचीत कर बहुत समय से लंबित मामलों का समाधान निकालना तथा मेक इन इंडिया पहल के प्रभावी क्रियान्वयन पर भी जोर दिया जाएगा।

रक्षा मंत्री ने कहा कि समग्र रक्षा क्षमताओं में मेक इन इंडिया को बड़ी भूमिका निभाने की आवश्यकता है क्योंकि यह सरकार के लिए बहुत जरूरी है। सशस्त्र बलों के कर्मियों के बारे में निर्मला ने कहा कि सैनिक कठिनतम सीमाओं पर अपना कर्तव्य निभाते हैं। उनके एवं उनके परिवारों का कल्याण सुनिश्चत करना उनका प्रयास रहेगा। उन्हें इस बात को लेकर आश्वस्त रहना चाहिए कि उनके हित सुरक्षित रहेंगे। उन्होंने कहा कि सैनिकों को सर्वोत्तम उपकरण मुहैया कराना भी उनकी एक प्राथमिकता रहेगी।

रक्षा मंत्री के तौर पर निर्मला रक्षा पर महत्वपूर्ण कैबिनेट समिति की सदस्य होंगी। प्रधानमंत्री, गृह मंत्री, विदेश मंत्री और वित्त मंत्री भी इस समिति के सदस्य हैं।

Similar Post You May Like

  • अगर मोदी के खेमे में लोगों को जाने से नहीं रोका तो 2019 में मुश्किल होगी : चिदंबरम

    अगर मोदी के खेमे में लोगों को जाने से नहीं रोका तो 2019 में मुश्किल होगी : चिदंबरम

    नई दिल्ली: 2019 चुनाव की रणनीति पर चिंता जताते हुए कांग्रेस के सीनियर नेता पी चिदंबरम ने कहा है कि अगर विपक्षी दल नरेंद्र मोदी के खेमे में लोगों को जाने से रोकने में नाकाम रहा तो अगले आम चुनाव में बीजेपी खिलाफ एकजुट होकर लड़ना मुश्किल होगा। उन्होंने यह भी कहा है कि अगले चुनाव में कौन किसके साथ होगा, अभी यह स्पष्ट नहीं है। लेकिन भाजपा को हराने के लिए कांग्रेस को अन्य विपक्षी दलों के साथ म

  • ओडिशा में भाजपा 120 सीटें जीत कर दो तिहाई बहुमत से सरकार बनायेगी: शाह

    ओडिशा में भाजपा 120 सीटें जीत कर दो तिहाई बहुमत से सरकार बनायेगी: शाह

    भुवनेश्वर: भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज दावा किया कि ओडिशा में भाजपा 120 सीटें जीत कर दो तिहाई बहुमत से सरकार बनाएगी। प्रदेश की बीजद सरकार पर निशाना साधते हुए शाह ने कहा कि भाजपा ओडिशा में व्याप्त भ्रष्टाचार और राज्य में विकास की धीमी गति को लेकर चिंतित है, यदि बीजद सरकार राज्य का विकास नहीं कर सकती तो उसे सत्ता में बने रहने का कोई हक नहीं है। शाह ने संवाददाताओं से कहा कि

  • उपराष्‍ट्रपति चुनाव : ऐसे छह उपराष्‍ट्रपति, जो बाद में बने राष्‍ट्रपति

    उपराष्‍ट्रपति चुनाव : ऐसे छह उपराष्‍ट्रपति, जो बाद में बने राष्‍ट्रपति

    एनडीए की तरफ से एम वेंकैया नायडू और यूपीए की तरफ से गोपाल कृष्ण गांधी ने मंगलवार को उपराष्‍ट्रपति पद के लिए नामांकन दाखिल कर दिया है. इसके साथ ही दोनों तरफ से इस पद के लिए खेमेबंदी शुरू हो गई है. पांच अगस्‍त को इस पद के लिए चुनाव होने जा रहे हैं. देश में अब तक छह उपराष्‍ट्रपति ऐसे रहे हैं जो बाद में राष्‍ट्रपति बने. 1. सर्वपल्‍ली राधाकृष्‍णन (1888-1975) प्रख्‍यात दार्शनिक राधाकृष्‍णन देश के

  • पहली बार देश के सर्वोच्च तीन पदों पर विराजमान होंगे भाजपा नेता

    पहली बार देश के सर्वोच्च तीन पदों पर विराजमान होंगे भाजपा नेता

    राष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान के तुरंत बाद भाजपा संसदीय बोर्ड ने विपक्ष के संयुक्त उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गांधी के सामने केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू को उम्मीदवार बनाने का फैसला किया। नायडू के नाम की घोषणा के साथ ही ये तय हो गया कि पहली बार देश के तीन सबसे बड़े संवैधानिक पदों पर भाजपा नेता आसीन रहेंगे। संसद में राजग का संख्या बल देखते हुए पांच अगस्त को होने वाले चुनाव में वेंकैया

  • कांग्रेस-JDU के बीच मतभेद खत्म, अब उपराष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष का साथ देंगे नीतीश!

    कांग्रेस-JDU के बीच मतभेद खत्म, अब उपराष्ट्रपति चुनाव में विपक्ष का साथ देंगे नीतीश!

    राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के उम्मीदवार रामनाथ कोविंद का समर्थन किए जाने से कांग्रेस और जेडीयू के बीच गहरा विवाद अब खत्म हो गया है। और ये सब कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के हस्तक्षेप के बाद हुआ। कहा जा रहा है कि उन्होंने अपनी पार्टी के नेताओं से नीतीश कुमार के खिलाफ नहीं बोलने का निर्देश दिया है। वहीं, जेडीयू ने भी इस दिशा में सकारात्मक रुख अपनाते हुए उपराष्ट्रपति चुनाव में विप

  • रणनीतिकार प्रशांत किशोर को मिला इस पार्टी को जिताने का जिम्मा

    रणनीतिकार प्रशांत किशोर को मिला इस पार्टी को जिताने का जिम्मा

    विभिन्न चुनावों में भाजपा के अलावा बिहार में जदयू-राजद तथा पंजाब में कांग्रेस का सफलतापूर्वक अभियान चलाने वाले राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर अब वाईएसआर कांग्रेस के साथ जुड़ गए हैं। वाईएसआर अध्यक्ष तथा आंध्र प्रदेश विधानसभा में विपक्ष के नेता वाई एस जगनमोहन रेड्डी ने पार्टी नेताओं के साथ एक बैठक की जिसमें प्रशांत किशोर मौजूद थे। वाईएसआर सासंद पी मिथुन रेड्डी ने यहां कहा

  • एनडीए की बातचीत खत्म, अब जल्द होगा कैंडिडेट का ऐलान, बीजेपी का तैयार है प्लान

    एनडीए की बातचीत खत्म, अब जल्द होगा कैंडिडेट का ऐलान, बीजेपी का तैयार है प्लान

    नई दिल्ली: राष्ट्रपति कैंडिडेट को लेकर एनडीए सहयोगियों और विपक्षी पार्टियों से मिल रहे बीजेपी नेताओं ने राय-मशविरे का दौर पूरा कर लिया है। अब कैंडिडेट का ऐलान करने के लिए आज बीजेपी संसदीय बोर्ड की बैठक होने वाली है। सूत्रों का कहना है कि पार्टी में इस बात को लेकर रजामंदी बनी है कि किसी सक्रिय राजनीतिक हस्ती को ही देश के इस सर्वोच्च पद पर काबिज होना चाहिए। रविवार को शहरी विकास मंत्र

  • राष्ट्रपति पद छोड़ने से पहले प्रणब मुखर्जी ने ठुकराई 2 क्षमा याचिकाएं

    राष्ट्रपति पद छोड़ने से पहले प्रणब मुखर्जी ने ठुकराई 2 क्षमा याचिकाएं

    अपना पद छोड़ने से पहले राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने दो और क्षमा याचिकाओं को ठुकरा दिया है। प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल 24 जुलाई को समाप्त हो रहा है। इससे पहले राष्ट्रपति ने दोनों क्षमा याचिकाओं का खारिज कर दिया है। इस तरह मुखर्जी द्वारा क्षमा याचिकाओं की ठुकराए जाने की संख्या 30 हो गयी है। खारिज की गई क्षमा याचिकाओं में पहला केस 2012 का है, जिसमें चार साल की एक बच्ची का रेप और फिर उसकी हत्

  • ‘राष्ट्रपति पद के लिए आडवाणी सबसे सम्‍मानित, अनुभवी और योग्य’

    ‘राष्ट्रपति पद के लिए आडवाणी सबसे सम्‍मानित, अनुभवी और योग्य’

    नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता और फिल्म अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा ने राष्‍ट्रपति पद के लिए राजग की तरफ से उम्‍मीदवार का नाम तय किए जाने की कवायद के बीच मंगलवार को ट्वीट कर पार्टी के वरिष्‍ठ नेता लालकृष्‍ण आडवाणी को इस पद के लिए सबसे योग्‍य बताया है। सिन्‍हा ने ट्वीट किया कि सबसे प्रतिष्ठित पद के लिए स्पष्ट रूप से वह (आडवाणी) उपयुक्त, विद्वान, सम्‍मानित, अनुभवी और

  • आडवाणी, जोशी को CBI कोर्ट से समन

    आडवाणी, जोशी को CBI कोर्ट से समन

    लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी स्थित एक विशेष अदालत ने गुरुवार को भारतीय जनता पार्टी (BJP) के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, उमा भारती तथा मुरली मनोहर जोशी को 30 मई को व्यक्तिगत रूप से अदालत के समक्ष पेश होने का निर्देश दिया। यह अदालत सन् 1992 के बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले की रोजाना सुनवाई कर रही है। अदालत ने आडवाणी तथा केंद्रीय जल संसाधन मंत्री उमा भारती को व्यक्तिगत पेशी से छूट देने से इनक

ताज़ा खबर