स्वतंत्रता सेनानियों से प्रेरणा लेकर राष्ट्र निर्माण के लिए आगे बढ़ने का समय: राष्ट्रपति

By Tejnews.com 2017-08-14 इंडिया     

नई दिल्ली: राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सोमवार को स्वतंत्रता सेनानियों से प्रेरणा लेकर आगे बढ़ने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि देश के लिए अपने जीवन का बलिदान कर देने वाले ऐसे वीर स्वतंत्रता सेनानियों से प्रेरणा लेकर आगे बढ़ने और देश के लिए कुछ कर गुजरने की उसी भावना के साथ राष्ट्र निर्माण में सतत जुटे रहने का समय है। स्वतंत्रता दिवस की 70वीं वर्षगांठ पर देश के नाम अपने संबोधन में राष्ट्रपति कोविंद ने कहा, "स्वतंत्रा नैतिकता पर आधारित नीतियों और योजनाओं को लागू करने पर उनका जोर, एकता और अनुशासन में उनका ²ढ़ विश्वास, विरासत और विज्ञान के समन्वय में उनकी आस्था, विधि के अनुसार शासन और शिक्षा को प्रोत्साहन, इन सभी के मूल में नागरिकों और सरकार के बीच साझेदारी की अवधारणा थी।"

उन्होंने आगे कहा, "यही साझेदारी हमारे राष्ट्र-निर्माण का आधार रही है - नागरिक और सरकार के बीच साझेदारी, व्यक्ति और समाज के बीच साझेदारी, परिवार और एक बड़े समुदाय के बीच साझेदारी।" उन्होंने कहा कि राष्ट्र निर्माण के लिए ऐसे कर्मठ लोगों के साथ सभी को जुड़ना चाहिए, साथ ही सरकार द्वारा किए जा रहे प्रयासों का लाभ हर तबके तक पहुंचे इसके लिए एकजुट होकर काम करना चाहिए। इसके लिए नागरिकों और सरकार के बीच साझेदारी महत्वपूर्ण है। कोविंद ने सरकार के 'स्वच्छ भारत' अभियान, 'खुले में शौच से मुक्त' कराना, इंटरनेट का सही उद्देश्य के लिए उपयोग करना, 'बेटी बचाओ - बेटी पढ़ाओ' अभियान का जिक्र किया।

उन्होंने कहा, "सरकार कानून बना सकती है और कानून लागू करने की प्रक्रिया को मजबूत कर सकती है, लेकिन कानून का पालन करने वाला नागरिक बनना, कानून का पालन करने वाले समाज का निर्माण करना - हममें से हर एक की जिम्मेदारी है। सरकार पारदर्शिता पर जोर दे रही है, सरकारी नियुक्तियों और सरकारी खरीद में भ्रष्टाचार समाप्त कर रही है, लेकिन रोजमर्रा की जिंदगी में अपने अंत:करण को साफ रखते हुए कार्य करना, कार्य संस्कृति को पवित्र बनाए रखना - हममें से हर एक की जिम्मेदारी है।"

कोविंद ने कहा, "सरकार ने कर प्रणाली को आसान करने के लिए जीएसटी लागू किया है, प्रक्रियाओं को आसान बनाया है, लेकिन इसे अपने हर काम-काज और लेन-देन में शामिल करना तथा कर देने में गर्व महसूस करने की भावना को प्रसारित करना - हममें से हर एक की जिम्मेदारी है।"

उन्होंने कहा कि आजादी केवल सत्ता हस्तांतरण नहीं था, बल्कि वह एक बहुत बड़े और व्यापक बदलाव की घड़ी थी। वह हमारे समूचे देश के सपनों के साकार होने का पल था, ऐसे सपने जो हमारे पूर्वजों और स्वतंत्रता सेनानियों ने देखे थे। स्वतंत्र भारत का उनका सपना, हमारे गांव, गरीब और देश के समग्र विकास का सपना था।उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने समाज और राष्ट्र के चरित्र निर्माण पर बल दिया था। गांधीजी ने जिन सिद्धांतों को अपनाने की बात कही थी, वे हमारे लिए आज भी प्रासंगिक हैं। कोविंद ने कहा, "राष्ट्रव्यापी सुधार और संघर्ष के इस अभियान में गांधीजी अकेले नहीं थे। नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने जब 'तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हे आजादी दूंगा' का आह्वान किया तो हजारों-लाखों भारतवासियों ने उनके नेतृत्व में आजादी की लड़ाई लड़ते हुए अपना सब कुछ न्योछावर कर दिया।"

उन्होंने कहा, "नेहरूजी ने हमें सिखाया कि भारत की सदियों पुरानी विरासतें और परंपराएं, जिन पर हमें आज भी गर्व है, उनका प्रौद्योगिकी के साथ तालमेल संभव है, और वे परंपराएं आधुनिक समाज के निर्माण के प्रयासों में सहायक हो सकती हैं। सरदार पटेल ने हमें राष्ट्रीय एकता और अखंडता के महत्व के प्रति जागरूक किया, साथ ही उन्होंने यह भी समझाया कि अनुशासन-युक्त राष्ट्रीय चरित्र क्या होता है। बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर ने संविधान के दायरे मे रहकर काम करने तथा 'कानून के शासन' की अनिवार्यता के विषय में समझाया। साथ ही, उन्होंने शिक्षा के बुनियादी महत्व पर भी जोर दिया।"

Similar Post You May Like

  • नागरिकता (संशोधन) कानून नहीं है भारत के मुसलमानों के खिलाफ: नितिन गडकरी

    नागरिकता (संशोधन) कानून नहीं है भारत के मुसलमानों के खिलाफ: नितिन गडकरी

    नागपुर: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को कहा कि नागरिकता (संशोधन) अधिनियम भारत के मुसलमानों के खिलाफ नहीं है। उन्होंने कहा कि नया कानून लाकर राजग सरकार मुसलमानों के साथ कोई नाइंसाफी नहीं कर रही है। गडकरी ने कांग्रेस पर ‘वोट बैंक की राजनीति’ के लिए ‘दुष्प्रचार’ करने का भी आरोप लगाया। वह यहां नये कानून के समर्थन में निकाली गयी रैली को संबोधित कर रहे थे। इस कानून में पाकिस्त

  • मुस्लिम देशों से मिल रहे समर्थन के कारण कांग्रेस और उसके सहयोगी परेशान: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

    मुस्लिम देशों से मिल रहे समर्थन के कारण कांग्रेस और उसके सहयोगी परेशान: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

    नयी दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में देशभर में जारी विरोध प्रदर्शन के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को कहा कि मुस्लिम बहुल देशों में उन्हें मिल रहे जबर्दस्त समर्थन से कांग्रेस और उसके सहयोगी परेशान है और इसीलिए वे भ्रम और अफवाह फैला रहे हैं। मोदी ने विपक्ष पर झूठ फैलाने का आरोप लगाते हुए साफ शब्दों में कहा कि जो लोग कागज-कागज, सर्टिफिकेट-सर्टिफिकेट के नाम पर

  • CAA Protest: दिल्ली, लखनऊ और कोलकाता समेत देश के 20 से ज्यादा शहरों में प्रदर्शन जारी

    CAA Protest: दिल्ली, लखनऊ और कोलकाता समेत देश के 20 से ज्यादा शहरों में प्रदर्शन जारी

    नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं. उत्तर से लेकर दक्षिण और पूर्व से लेकर पश्चिम के राज्यों में इस कानून और एनआरसी के खिलाफ लोग सड़कों पर हैं. इस कारण उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, आंन्ध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों के कई बड़े शहरों में धारा 144 लगा दी गई है. इससे पहले गुरुवार को हुए प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया. गुरुवार

  • निर्भया गैंगरेप: दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी करने पर नहीं हुआ फैसला

    निर्भया गैंगरेप: दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी करने पर नहीं हुआ फैसला

    नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के निर्भया गैंगरेप मामले में सभी दोषियों के खिलाफ पटियाला हाउस कोर्ट में डेथ वारंट जारी करने को लेकर फैसला नहीं हो पाया. कोर्ट ने सुनवाई की अगली तारीख 7 जनवरी को तय कर दी है. निर्भया की मां आशा देवी ने दोषियों को जल्द से जल्द फांसी देने की मांग की है. इससे पहले आज सुप्रीम कोर्ट ने अक्षय के वकील एपी सिंह की ओर से तमाम दलील सुनने के बाद अक्षय की पुनर्विचार याचिका

  • प्रधानमंत्री मोदी के गिरने के बाद दोबारा बनाई जाएंगी अटल घाट की सीढ़ियां

    प्रधानमंत्री मोदी के गिरने के बाद दोबारा बनाई जाएंगी अटल घाट की सीढ़ियां

    उत्तर प्रदेश के कानपुर में अटल घाट की सीढ़ियां दोबारा बनाई जाएंगी। असमान ऊंचाइयों के कारण इन सीढ़ियों पर लोगों के गिरने का डर बना रहता है। पिछले सप्ताह नमामि गंगे प्रोजेक्ट की बैठक के लिए कानपुर आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इन सीढ़ियों पर गिर गए थे, लेकिन उन्हें तुरंत एसपीजी कर्मी ने संभाल लिया। खंडीय आयुक्त सुधीर एम. बोबडे ने कहा, "घाट पर सिर्फ एक सीढ़ी की ऊंचाई असमान है, जिसे तो

  • नागरिकता संशोधन बिल पास होने का विरोध, असम में छात्र संगठनों ने 12 घंटे का बंद बुलाया

    नागरिकता संशोधन बिल पास होने का विरोध, असम में छात्र संगठनों ने 12 घंटे का बंद बुलाया

    नई दिल्ली: लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पास होने के बाद इस पर विरोध प्रदर्शन भी होने लगे हैं। असम में कुछ संगठनों ने 12 घंटे का बंद का आह्वान किया है। इनमें कुछ छात्र संगठन भी शामिल हैं। बंद को देखते हुए जगह-जगह सुरक्षा व्यवस्था सख्त की गई है। गुवाहाटी में सुबह के समय ज्यादातर दुकाने बंद है। डिब्रूगढ़ में छात्र संगठनों ने सड़क पर टायर जलाकर अपना रोष दिखाया। बता दें कि नॉर्थ-ईस्ट स्

  • नागरिकता संसोधन बिलः 80 के मुकाबले 311 से पारित, अमित शाह ने रखे अपने तर्क

    नागरिकता संसोधन बिलः 80 के मुकाबले 311 से पारित, अमित शाह ने रखे अपने तर्क

    नई दिल्लीः लंबे समय से चर्चा में चल रहे नागरिकता संसोधन बिल को लोकसभा में पास कर लिया गया है. बिल के पक्ष में 311 मत पड़े. जबकि विपक्ष में केवल 80 मत ही पड़े. इससे पहले अमित शाह ने बिल की बारीकियों का जिक्र करते हुए साफ किया कि इस बिल से इस देश के मुसलमानों पर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है. क्योंकि यह बिल पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आने वाले अल्पसंख्यक शरणार्थियों को नागरिकता देन

  • नित्यानंद मामला : इक्वाडोर का शरण देने से इनकार, विदेश मंत्रालय ने पासपोर्ट रद्द किया

    नित्यानंद मामला : इक्वाडोर का शरण देने से इनकार, विदेश मंत्रालय ने पासपोर्ट रद्द किया

    इक्वाडोर सरकार ने शुक्रवार को इस बात से इनकार किया कि उसने दुष्कर्म और अपहरण के मामले में भारत में वांछित स्वयंभू संत नित्यानंद को शरण दिया है या दक्षिण अमेरिकी देश में जमीन खरीदने में उसे किसी भी तरह की मदद की है. इक्वाडोर सरकार का बयान ऐसे समय आया है, जब भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा कि उसने नित्यानंद का पासपोर्ट रद्द कर दिया है और अपने सभी विदेशी दूतावासों को उसके आवाजाही पर नजर रख

  • राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा- सभी के लिए न्याय सुलभ होना चाहिए

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा- सभी के लिए न्याय सुलभ होना चाहिए

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) ने न्याय की महत्ता को रेखांकित करते हुए शनिवार को कहा कि सभी के लिए न्‍याय सुलभ होना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘‘मेरी सबसे बड़ी चिंता यह है कि क्या हम, सभी के लिए न्याय सुलभ करा पा रहे हैं?'' इसके साथ ही उन्होंने न्याय प्रक्रिया के खर्चीला होते जाने की बात भी की. राजस्थान उच्च न्यायालय (Rajasthan High Court) के नये भवन के उद्घाटन कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कोविंद ने कहा

  • हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव : बीजेपी ने प्रचार में झोंकी पूरी ताकत, पीएम मोदी आज फिर करेंगे दो रैलियां

    हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव : बीजेपी ने प्रचार में झोंकी पूरी ताकत, पीएम मोदी आज फिर करेंगे दो रैलियां

    रैत (हिमाचल प्रदेश): हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव से पहले, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्य में व्यस्त प्रचार कार्यक्रम हैं. पीएम मोदी दो नवंबर को दो चुनावी जनसभाओं को संबोधित करने वाले मोदी रैत (कांगड़ा) और सुंदरनगर (मंडी) में दो रैलियों को संबोधित करेंगे. भाजपा की ओर से बताया गया कि आज प्रधानमंत्री पालमपुर, कुल्लू और ऊना में एक एक जनसभा को संबोधित करेंगे. हिमाचल में चुनाव नौ नवंबर

ताज़ा खबर

Popular Lnks