KGMU में भीषण आग से 6 की मौत, सीएम योगी ने दिए जांच के आदेश

By Tejnews.com 2017-07-15 उत्तर प्रदेश     

लखनऊ। किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय [केजीएमयू] के ट्रामा सेंटर में शाम सा़ढे सात बजे भीषण आग लग गई। उस वक्त ट्रॉमा सेंटर में चार सौ से ज्यादा मरीज भर्ती थे। आग लगने का कारण एसी में शार्ट सर्किट बताया जा रहा है। दूसरे फ्लोर पर स्थित एडवांस ट्रामा लाइफ सपोर्ट [एटीएलएस] वार्ड में अचानक लगी आग देखते ही देखते विकराल हो गई और तीसरे फ्लोर पर मेडिसिन स्टोर में भी पहुंच गई। घटना में हेमंत कुमार के अलावा लखनऊ के वसीम और अरविंद कुमार समेत 6 की मौत हो गई। तीनों की हालत गंभीर थी और एक अस्पताल से दूसरे में शिफ्ट करते वक्त जान गई। कई मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है। कुलपति प्रो. एमएलबी भट्ट ने बताया कि जलने से किसी भी व्यक्ति मौत नहीं हुई है।

चारों ओर धुंआ और भीषण आग की लपटों के बीच डाक्टर जिन मरीजों का ऑपरेशन कर रहे थे वे जान बचाने के लिए बीच में ही ऑपरेशन छोड़कर भाग गए। किसी तरह तीमारदारों ने स्ट्रेचर पर लादकर अपने मरीजों को नीचे उतारा। ट्रॉमा सेंटर के बाहर सड़क पर स्ट्रेचर पर मरीजों की कतारें लग गईं। इसके बाद मरीजों को लारी कार्डियोलॉजी, शताब्दी अस्पताल के फेज एक व फेज दो, केजीएमयू के गांधी वार्ड में शिफ्ट किया जाने लगा। जब यहां पर मरीज फुल हो गए तो सिविल व बलरामपुर अस्पताल भी भेजा जाने लगा। करीब चार सौ से अधिक मरीज शिफ्ट किए गए। आग पर दमकल की आधा दर्जन गाड़ियां काबू पाने में नाकाम साबित हो रहीं थी। कर्मचारियों ने किसी तरह खि़डकियों के शीशे तोड़कर धुंए को बाहर निकाला। देर रात तक आग बुझाने में दस दमकल, 45 दमकलकर्मी, एक हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म कई थानों का पुलिसबल जुटा था। ट्रॉमा सेंटर में सर्च ऑपरेशन चलाया गया। जो मरीज फंसे थे उन्हें बाहर निकाला।

योगी ने मंडलायुक्त को सौंपी जांच

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस घटना की जांच तीन दिन के भीतर मंडलायुक्त लखनऊ से करने और लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

रखा था प्लास्टिक का सामान

ट्रॉमा की दूसरी मंजिल पर बनी एटीएलएस यूनिट में प्लास्टिक के बेड व मैनीक्विन रखी थीं। इस कारण आग बहुत तेजी से फैली। आग ने ग्राउंड फ्लोर, पहली मंजिल व दूसरी मंजिल को अपनी गिरफ्त में ले लिया। तीसरी मंजिल पर ट्रामा वेंटीलेटर यूनिट (टीवीयू) में अत्यंत गंभीर मरीज थे, जिन्हें किसी तरह बचाया गया। जिस फ्लोर पर आग लगी उसमें आर्थोपेडिक विभाग, मेडिसिन विभाग व न्यूरो सर्जरी विभाग शामिल हैं। आग चौथे व पांचवे फ्लोर पर न पहुंचे इसके लिए कड़ी मशक्कत की गई।

टांका खुला छोड़कर भागे डाक्टर

बलरामपुर से आई सुनीता की आंतों का आपरेशन हुआ था कि अचानक आग लग गई। यहां पर डाक्टर टांका खुला छोड़कर ही भाग गए। इसके बाद सुनीता का पति राम दशरथ उसे गोद में उठाकर किसी तरह जान बचाकर नीचे आया। बस्ती की प्रमिला खाना बनाने रैन बसेरा में आई थी और उसकी पंद्रह दिन की बेटी एनआइसीयू में चौथे फ्लोर पर भर्ती थी। वह अपने बेटे की देखरेख में बेटी को छोड़कर आई थी। आग लगने के बाद जब वह बेटे का फोन मिला रही थी तो वह उठ नहीं रहा था। ऐसे में वह लोगों से गुहार लगा रही थी कि कोई मेरी बेटी को बचा लो साहब।

नहीं काम आए अग्निशमन यंत्र

ट्रामा सेंटर में आग लगने के करीब 20 मिनट बाद फायर बिग्रेड पहुंची। आग लगते ही ट्रामा के कर्मचारी व तीमारदारों ने किसी तरह अग्निशमन यंत्र से आग बुझाने की कोशिश की लेकिन, वह किसी काम नहीं आए।

आग का कारण, तैयारी और तत्परता

वहीं केजीएमयू के सीएमएस एसएन शंखवार ने बताया कि आग शार्ट सर्किट से लगी है। किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। फिलहाल अग्निशमन और पुलिस की टीम के साथ रेजिडेंट डॉक्टरों की टीम राहत और बचाव कार्य में देर रात तक जुटे रहे। एक जानकारी के मुताबिक आग से हमीरपुर की सरस्वती देवी आग के बाद मची भगदड़की चपेट में आकर मौत के मुंह में चली गई। सूत्रों के मुताबिक इस महिला को ट्रामा सेंटर से राम मनोहर लोहिया अस्पताल शिफ्टकिया जा रहा था। पुलिस ने भी आग शार्ट सर्किट बताया है। इसकी सूचना 19ः20 बजे चौक फायर कंट्रोल रूम को मिली।

सूचना मिलते ही चौक अलीगंज और हजरतगंज के एक दर्जन से अधिक दमकल की गाड़ियों को मौके पर रवाना किया गया। वहीं हजरतगंज से क्रेन और हाइड्रोलिक प्लेटफॉर्म की मदद से दमकल कर्मियों ने आग पर पर काबू पाने के लिए रहत एवं बचाव कार्य शुरू किया गया। करीब तीन घंटे तक आग पर काबू नहीं पाया जा सका था। जिलाधिकारी कौशल राज और एसएसपी दीपक कुमार और केजीएमयू वीसी ने भी मौके पर पहुंच कर मरीजों की हालत का जायजा लिया।

पहले भी लग चुकी आग

एटीएलएस

फिजियोलाजी

बाल रोग विभाग

पैराप्लीजिया विभाग

पैथोलॉजी विभाग

गांधी वार्ड

सांसत में रही मरीजों की जान

केजीएमयू में आग लगने का यह मामला पहला नहीं है। इसे पहले भी यहां पर कई बार आग लग चुकी है।केजीएमयू के फिजियोलॉजी विभाग की प्रयोगशाला में इसी साल मई महीने में आग लगी थी। भीषण धुंआ निकलने से काम कर रहे डॉक्टर व कर्मचारी घबराकर जान बचाने के लिए भागे। इसकी वजह से वहां भगदड़ मची थी। उस समय भी एअर कंडीशन में शार्ट सर्किट से आग लगने की आशंका जाहिर की गई थी। आग बुझाने के इंतजाम न होने से कर्मचारी घबरा गए थे। केजीएमयू के बाल रोग विभाग, पैराप्लीजिया विभाग, पैथोलॉजी, गांधी समेत दूसरे वार्डों में आग लगने की घटनाएं हो चुकी हैं। इसके बावजूद केजीएमयू को आग से बचाने के लिए पुख्ता इंतजाम नहीं किए गए हैं। अफसरों की हीला-हवाली से मरीजों की जान सांसत में रही है।

नहीं काम आए अग्निशमन यंत्र

ट्रामा सेंटर में आग लगने के करीब 20 मिनट बाद फायर बिग्रेड पहुंची। आग लगते ही ट्रामा के कर्मचारी व तीमारदारों ने किसी तरह अग्निशमन यंत्र से आग बुझाने की कोशिश की लेकिन, वह किसी काम नहीं आए। ट्रॉमा की दूसरी मंजिल पर बनी एटीएलएस यूनिट में प्लास्टिक के बेड व मैनीक्विन रखी थीं। इस कारण आग बहुत तेजी से फैली। आग ने ग्राउंड फ्लोर, पहली मंजिल व दूसरी मंजिल को अपनी गिरफ्त में ले लिया। तीसरी मंजिल पर ट्रामा वेंटीलेटर यूनिट (टीवीयू) में अत्यंत गंभीर मरीज थे, जिन्हें किसी तरह बचाया गया। जिस फ्लोर पर आग लगी उसमें आर्थोपेडिक विभाग, मेडिसिन विभाग व न्यूरो सर्जरी विभाग शामिल हैं। आग चौथे व पांचवे फ्लोर पर न पहुंचे इसके लिए कड़ी मशक्कत की गई।

Similar Post You May Like

  • इयरफोन लगाकर चला रहा था स्कूल वैन, ट्रेन से टक्कर में गई 8 बच्चों की जान, 10 साल की सजा

    इयरफोन लगाकर चला रहा था स्कूल वैन, ट्रेन से टक्कर में गई 8 बच्चों की जान, 10 साल की सजा

    भदोही: उत्तर प्रदेश के भदोही में इयरफोन लगाकर स्कूल वैन चला रहे ड्राइवर राशिद खान की लापरवाही के चलते 2016 में 8 बच्चों की जान चली गई थी। इस मामले में अब अदालत का फैसला आ गया है। रिपोर्ट्स के मातबिक, भदोही की एक अदालत ने करीब साढ़े तीन साल पहले मानव रहित क्रॉसिंग पर ट्रेन और स्कूल वैन की टक्कर में 8 बच्चों की मौत के मामले में दोषी चालक को शनिवार को 10 साल की कैद की सजा सुनाई। इसके अलावा ड्राइ

  • प्रदर्शन के दौरान रामपुर में हुआ बवाल, फायरिंग में एक युवक की मौत

    प्रदर्शन के दौरान रामपुर में हुआ बवाल, फायरिंग में एक युवक की मौत

    लखनऊ: नागरिकता कानून के विरोध में आज उत्तर प्रदेश के रामपुर में बवाल हो गया. यहा रामपुर के हाथीखाना चौराहे के पास लोगों ने प्रद्ऱसन किया. प्रशासन ने इसकी इजाजत नहीं दी थी. प्रदर्शनकारियों को जब रोका गया तो भीड़ उग्र हो गई.पथरावाजी शुरू हो गई. जवाब में पुलिस ने भी आंसू गैस के गोले दागे. यहां गुस्साई भीड़ ने कई बाइको में आग लगा दी. पूरे प्रकरण में अभी तक 6 लोग घायल हो चुके हैं,जबकि एक मौत हो

  • सीएम योगी ने कहा- उपद्रवियों की संपत्ति जब्त कर नुकसान की भरपाई की जाएगी

    सीएम योगी ने कहा- उपद्रवियों की संपत्ति जब्त कर नुकसान की भरपाई की जाएगी

    नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ देश भर में प्रदर्शन हो रहे हैं. यूपी भी इससे अछूता नहीं है. राज्य के कई जिलों में हिंसक प्रदर्शन हुआ जिसमें करीब 11 लोगों की जान चली गई. प्रदर्शनकारियों ने जमकर तोड़ फोड़ की और पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाया. इस मामले को लेकर अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त रुख अपना लिया है. योगी ने ट्वीट कर कहा, ''नागरिकता कानून के मुद्दे पर गुमराह करके लोगों

  • कानपुर में हिंसक भीड़ ने किया पथराव, पुलिस चौकी फूंकी

    कानपुर में हिंसक भीड़ ने किया पथराव, पुलिस चौकी फूंकी

    कानपुर: नागरिकता कानून के खिलाफ कानपुर में हंगामा थमने का नाम नहीं ले रहा. शहर के कई इलाकों में शनिवार को हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी लगातार नारेबाजी कर रहे हैं. परेड यतीमखाना इलाके में हिंसा पर उतारू भीड़ ने पुलिस पर पथराव किया और पुलिस चौकी को आग के हवाले कर दिया. परेड यतीमखाना इलाके में एकत्र प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव कर दिया. भीड़ को खदेड़ने के लिए पुलिस ने लाठीच

  • उन्नाव रेप कांड के दोषी कुलदीप सिंह सेंगर को उम्रकैद की सजा, 25 लाख जुर्माना भी

    उन्नाव रेप कांड के दोषी कुलदीप सिंह सेंगर को उम्रकैद की सजा, 25 लाख जुर्माना भी

    उन्नाव रेप कांड मामले में दोषी और बीजेपी के निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है. अदालत ने उसपर 25 लाख का जुर्माना भी लगाया है. दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने कुलदीप सेंगर को यह सजा सुनाई है. सेंगर पर आरोप है कि उसने साल 2017 एक नाबालिग लड़की का अपहरण कर उसके साथ रेप की घटना को अंजाम दिया था. क्या है पूरा मामला? नाबालिग लड़की ने कुलदीप सेंगर पर बलात्कार का आरोप लग

  • यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर के लिए हर परिवार से मांगीं ये 2 चीजें

    यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने राम मंदिर के लिए हर परिवार से मांगीं ये 2 चीजें

    यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, राम मंदिर के लिए हर परिवार को 11 रुपये और एक पत्थर का योगदान देना चाहिए रांची: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को एक ऐसा बयान दिया, जो विवाद खड़ा कर सकता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, योगी ने कथित तौर पर कहा कि अयोध्या में भव्य राम मंदिर के निर्माण के हर परिवार को 11 रुपये व एक पत्थर का योगदान देना चाहिए। यह पहली बार है कि मुख्यमंत्

  • फतेहपुर मामले में आया ट्विस्ट, पंचायती फरमान से नाखुश होकर पीड़िता ने लगाई आग

    फतेहपुर मामले में आया ट्विस्ट, पंचायती फरमान से नाखुश होकर पीड़िता ने लगाई आग

    बांदा: उत्तर प्रदेश के फतेहपुर जिले के हुसैनगंज थाना क्षेत्र में शनिवार को 18 साल की लड़की को कथित रूप से दुष्कर्म बाद जिंदा जलाने के मामले में अब नया मोड़ आ गया है और अब तक की पुलिसिया जांच में प्रेम प्रसंग में आये पंचायती फरमान से क्षुब्ध होकर आग लगने की घटना सामने आई है। हालांकि, पुलिस ने पीड़िता के आरोपी चाचा को बलात्कार और हत्या की कोशिश के आरोप शनिवार की शाम ही गिरफ्तार कर लिया है।

  • उन्नाव पीड़िता की कब्र पर प्रशासन द्वारा चबूतरा बनाए जाने का परिजनों ने किया विरोध

    उन्नाव पीड़िता की कब्र पर प्रशासन द्वारा चबूतरा बनाए जाने का परिजनों ने किया विरोध

    उन्‍नाव: जिले के बिहार थाना क्षेत्र में जिंदा जलाई गई दुष्‍कर्म पीड़िता की कब्र पर प्रशासन द्वारा करवाए जा रहे चबूतरे के निर्माण का परिजनों ने विरोध किया और कब्र पर लगाई गई ईंटों को उखाड फेंका। प्रशासन ने सोमवार शाम कब्र पर निर्माण कार्य शुरू कराया था। बिहार थाना प्रभारी विकास पांडेय ने बताया कि परिजनों के विरोध के बाद निर्माण कार्य रूकवा दिया गया है, कब्र पर भी सुरक्षा की व्यवस

  • प्रशासन के मनाने के बाद किया गया पीड़िता का अंतिम संस्कार

    प्रशासन के मनाने के बाद किया गया पीड़िता का अंतिम संस्कार

    उन्नाव: प्रशासन की कोशिश के बाद अब से कुछ देर पहले उन्नाव रेप पीड़िता का अंतिम संस्कार किया गया. इससे पहले पीड़िता के परिवार इस बात की मांग कर रहे थे कि जब तक प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नहीं आते हैं तब तक पीड़िता का अंतिम संस्कार नहीं किया जाएगा. हालांकि, लखनऊ मंडलायुक्त और अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की ओर से आश्वासन मिलने के बाद पीड़ित परिवार वाले मान गए. इससे पहले प्रद

  • नहीं बचाई जा सकी उन्नाव रेप पीड़िता, दम तोड़ने से पहले पुलिस को बताया था कैसे आरोपियों ने उसे किया आग के हवाले

    नहीं बचाई जा सकी उन्नाव रेप पीड़िता, दम तोड़ने से पहले पुलिस को बताया था कैसे आरोपियों ने उसे किया आग के हवाले

    उन्नाव की रेप पीड़िता की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मौत हो गई है. डॉक्टरों के मुताबिक पीड़िता ने देर रात 11 बजकर 40 मिनट पर आख़िरी सांस ली. बलात्कार के आरोपियों ने उसे ज़िदा जला दिया था. जिसमें वो 90 फ़ीसदी जल गई थी. गुरुवार को उसे बेहतर इलाज के लिए लखनऊ से एयरलिफ़्ट कर दिल्ली के सफ़दरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सफ़दरजंग अस्पताल में पीड़िता के लिए अलग आईसीयू बनाया गया था. जहां डॉक्टरों की

ताज़ा खबर

Popular Lnks